चंद्रयान-3: चंद्रमा की सतह से करीब चंद्रयान-3, बाकी 1437 किलोमीटर की दूरी

भारत का महत्वाकांक्षी चंद्रयान-3 मिशन (Chandrayaan-3 Mission) लगातार आगे बढ़ रहा है।

इस बीच चंद्रयान-3 (Chandrayaan-3) चंद्रमा की सतह के और करीब पहुंच गया है। इसरो ने बताया कि भारत के महत्वाकांक्षी तीसरे चंद्रमा मिशन (Chandrayaan-3) अंतरिक्ष यान चंद्रमा की तीसरी ऑर्बिट में पहुंच गया है। इसरो ने एक ट्वीट में कहा कि चंद्रयान-3 चंद्रमा की सतह के और भी करीब पहुंच गया है।

भारत का महत्वाकांक्षी ‘चंद्रयान-3’ मिशन (Chandrayaan-3 Mission) लगातार आगे बढ़ रहा है। इस बीच चंद्रयान-3 (Chandrayaan-3) चंद्रमा की सतह के और करीब पहुंच गया है। इसरो ने बताया कि भारत के महत्वाकांक्षी तीसरे चंद्रमा मिशन (Chandrayaan-3) अंतरिक्ष यान चंद्रमा की तीसरी ऑर्बिट में पहुंच गया है।

14 जुलाई को लॉन्च हुआ था चंद्रयान-3 मिशन

बता दें कि 14 जुलाई को चंद्रयान-3 मिशन लॉन्च हुआ था। इसके बाद से ही चंद्रयान-3 एक के बाद एक पड़ाव पार कर रहा है। चंद्रयान-3 ने 5 अगस्त को चंद्र कक्षा में प्रवेश किया था।

चंद्रमा की सतह के और करीब पहुंचा चंद्रयान-3

इसरो ने एक ट्वीट में कहा कि चंद्रयान-3 चंद्रमा की सतह के और भी करीब पहुंच गया है। आज चंद्रयान-3 की कक्षा घटकर 174 किमी x 1437 किमी रह गई है। उन्होंने कहा कि अगला ऑपरेशन 14 अगस्त 2023 को 11:30 से 12:30 बजे के बीच निर्धारित है।

चंद्रयान-3 ने भेजी थी चंद्रमा की तस्वीर

इससे पहले चंद्रयान-3 ने अंतरिक्ष से चांद की पहली तस्वीर भेजी थी। बीते पांच अगस्त को चंद्रयान-3 चंद्रमा की कक्षा में सफलतापूर्वक स्थापित हुआ था। इसरो के मुताबिक, वह आगामी 23 अगस्त को चंद्रयान-3 की चंद्रमा की सतह पर ‘सॉफ्ट लैंडिंग’ कराने की कोशिश करेगा। इससे पहले, चंद्रयान-3 को 14 जुलाई को प्रक्षेपित किए जाने के बाद से उसे कक्षा में ऊपर उठाने की प्रक्रिया को पांच बार सफलतापूर्वक अंजाम दिया गया था।

Previous post

Bada Ganesh Mandir Ujjain: इस मंदिर में मिलती है गणेश जी की विशाल मूर्ति, खास तरीके से किया गया है निर्माण

Next post

केंद्रीय कर्मचारियों की सेवानिवृत्ति की उम्र में बदलाव का कोई प्रस्ताव नहीं, लोकसभा में सरकार ने किया स्पष्ट

Post Comment

You May Have Missed