Pakistan : महिलाओं के खिलाफ हिंसा-उत्पीड़न के मामले बढ़े, चार महीने में 900 से अधिक मामले दर्ज

सस्टेनेबल सोशल डेवलपमेंट ऑर्गनाइजेशन ने पाकिस्तान में महिलाओं और बच्चों के खिलाफ होने वाले अपराध

का डेटा रिकॉर्ड किया है। 1 जनवरी 2023 से 30 अप्रैल 2023 तक पुलिस के पास महिलाओं के खिलाफ हिंसा के 771 मामले दर्ज किए गए हैं। वहीं बच्चों के खिलाफ हिंसा के 142 मामले सामने आए हैं। रिपोर्ट में नागरिकों की सुरक्षा के लिए कदम उठाने को भी कहा गया है।

इस साल की शुरुआत से अब तक पाकिस्तान में महिलाओं और बच्चों के खिलाफ हुए अपराधों की एक रिपोर्ट पेश की गई है। सस्टेनेबल सोशल डेवलपमेंट ऑर्गनाइजेशन (एसएसडीओ) की इस रिपोर्ट के मुताबिक, इस साल के पहले चार महीनों में सिंध पुलिस में महिलाओं और बच्चों के खिलाफ हिंसा के 900 से अधिक मामले दर्ज किए गए हैं।

महिलाओं और बच्चों के खिलाफ बढ़े मामले

इस रिपोर्ट के मुताबिक, इन चार महीनों के दौरान 529 महिलाओं का अपहरण किया गया और घरेलू हिंसा के 119 मामले सामने आए हैं। इसके अलावा, दुष्कर्म के 56 मामले और ऑनर किलिंग के 37 मामले दर्ज किए गए थे।

कराची सेंट्रल, हैदराबाद और केमारी जिले महिलाओं के खिलाफ हिंसक अपराधों के हॉटस्पॉट के रूप में उभर कर सामने आए हैं। बच्चों के खिलाफ दर्ज मामलों में सबसे ज्यादा यौन हिंसा के केस हैं, इसमें अब तक लगभग 67 मामले दर्ज कर लिए गए हैं।

रिपोर्ट में सभी नागरिकों, विशेषकर महिलाओं और बच्चों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए सरकार, पुलिस और न्यायपालिका की ओर से अधिक ध्यान और कार्रवाई की आवश्यकता पर जोर देने को कहा गया है।

पिता ने बेटी के साथ किया दुष्कर्म

पाकिस्ताने के नोरावाल के सियालकोट जिले से एक हैरान करने वाला मामला सामने आया था। दरअसल, सियालकोट जिले के पसरूर तहसील के बानी सिलहरियां गांव में एक व्यक्ति को अपनी ही बेटी के साथ दुष्कर्म किया था, जिसके लिए अतिरिक्त जिला और सत्र न्यायाधीश ने आरोपी पिता को मौत की सजा सुनाई थी।

मां ने दर्ज कराई रिपोर्ट

इस घटना की रिपोर्ट पीड़िता की मां ने 21 जून, 2022 को पुलिस में दर्ज कराई थी। इसके बाद संदिग्ध नाजिम अली के खिलाफ पुलिस मामला दर्ज किया। जिला पुलिस अधिकारी, मुहम्मद हसन इकबाल ने तुरंत प्रतिक्रिया देते हुए आरोपी को गिरफ्तार किया और मामले की जांच शुरू कर दी थी।

आरोपी पिता को मिली मौत की सजा

इसके बाद आरोपी पिता को पसरूर के अतिरिक्त जिला एवं सत्र न्यायालय में पेश किया गया, जहां सुनवाई के बाद न्यायाधीश उमर फारूक खान ने नाजिम को दोषी पाया और मौत की सजा सुनाई। अदालत ने दोषी को जुर्माना भरने या जुर्माना न भरने पर छह महीने की अतिरिक्त कैद भुगतने का भी आदेश दिया।

पेड़ से लटका मिला बच्ची का शव

पाकिस्तान से एक और भयावह घटना सामने आई थी। यहां एक 13 वर्षीय लड़की काफी दिनों से लापता थी। काफी जांच-पड़ताल करने के बाद उस नाबालिग का शव हैदराबाद के बाहरी इलाके काइम बब्बर गांव में एक आम के पेड़ से लटका हुआ पाया गया। जांच में पता चला कि लड़की के साथ दुष्कर्म हुआ था और उसके बाद पीड़िता की हत्या कर दी गई थी।

आरोपी से पूछताछ जारी

शुरुआत में कुछ रिश्तेदारों में इस मामले को लेकर पुलिस में शिकायत करने से रोका, जिसके कारण जांच में देरी हो गई थी। हालांकि, प्रारंभिक रिपोर्ट पुलिस महानिरीक्षक को भेज दी गई है और पांच सदस्यीय जांच समिति का गठन किया गया है।

फिलहाल, इस मामले में संदिग्ध को पुलिस हिरासत में ले लिया गया है और पूछताछ की जा रही है। घटना पर हैदराबाद के मेयर काशिफ शोरो ने संवेदना व्यक्त करते हुए पूरा समर्थन और त्वरित न्याय दिलाने का वादा किया है।

Post Comment

You May Have Missed