Bengal Panchayat Polls: ममता बनर्जी के दौरे के बाद कूचबिहार में TMC के दो गुटों में झड़प, एक की मौत; पांच घायल

पश्चिम बंगाल में पंचायत चुनाव से पहले हिंसा का दौर थमने का नाम नहीं ले रहा है।

ताजा मामला कूचबिहार जिले का है जहां ममता बनर्जी के दौरे के टीएमसी के दो गुटों में हिंसक झड़प हो गई जिसमें एक कार्यकर्ता की मौत हो गई। बताया जाता है कि यह घटना दिनहाटा में हुई है। पुलिस को घटना के पीछे बांग्लादेशी अपराधियों का हाथ होने का शक है।

मौके पर पुलिस मौजूद

कूचबिहार के एसपी सुमित कुमार ने बताया कि गीतलदाहा में आज सुबह दो गुटों के बीच झड़प हो गई। जानकारी के मुताबिक, पांच लोगों को गोली लगी है, जिनमें से एक बाबू हक की मौत हो गई है। स्थिति शांतिपूर्ण है। पुलिस मौके पर मौजूद है।

इलाके में तनाव का माहौल

बांग्लादेश की सीमा से सटे इस इलाके में नाव से पहुंचा जा सकता है। इलाके में तनाव का माहौल है। तृणमूल के नेताओं ने भाजपा पर आरोप लगाये हैं, जबकि पुलिस का कहना है कि तृणमूल के लोग ही आपस में भिड़ गए।

बंगाल में पंचायत चुनाव से पहले हिंसा जारी

बता दें, बंगाल में आठ जुलाई को पंचायत चुनाव के लिए वोट डाले जाएंगे, लेकिन उससे पहले राज्य में हिंसा जारी है। नामांकन के दौरान कई जगहों से हिंसा की खबरें सामने आई हैं, जिसमें कई लोगों को अपनी जान गंवानी पड़ी है।

मुर्शिदाबाद में हुई थी हिंसा

कूचबिहार से पहले, मुर्शिदाबाद जिले के डोमकोल में हिंसा भड़क उठी थी। यहां प्रचार के दौन माकपा और टीएमसी कार्यकर्ता भिड़ गए थे। तृणमूल ने आरोप लगाया था कि विपक्षी दल भीड़ को उकसाकर माहौल खराब कर रहे हैं।

भाजपा प्रत्याशी के घर पर बम से हमला,

वहीं, नदिया जिले के कृष्णगंज पंचायत समिति निर्वाचन क्षेत्र से भाजपा प्रत्याशी कल्पना सरकार के घर पर बम से हमला करने का मामला सामने आया है। भाजपा ने तृणमूल कार्यकर्ताओं पर हमला करने का आरोप लगाया है। भाजपा का कहना है कि जब उन्होंने टीएमसी कार्यकर्ताओं को रोकने का प्रयास किया गया तो उन्होंने लाठी-डंडों से उनकी पिटाई की।

भाजपा का कहना है कि पिटाई के दौरान राणाघाट दक्षिण से स्थानीय भाजपा विधायक मुकुटमणि अधिकारी के पिता भूपाल अधिकारी और भाई अनुपम अधिकारी घायल हो गए। विधायक के भाई का सिर फट गया है। घटना कृष्णगंज थाना के नागघाटा इलाके में रविवार देर शाम की है। पुलिस ने दोनों पक्षों के तीन लोगों को गिरफ्तार किया है।

केंद्रीय सुरक्षा बलों को किया गया तैनात

बंगाल में पंचायत चुनाव से पहले जारी हिंसा को देखते हुए राज्य में केंद्रीय सुरक्षा बलों को तैनात किया गया है। विपक्षी पार्टियों ने केंद्र से सुरक्षा बलों को तैनात करने की मांग की थी। चुनाव को देखते हुए राज्य में केंद्रीय सुरक्षा बलों की 800 से ज्यादा कंपनियां तैनात की जाएंगी।

Post Comment

You May Have Missed