हम तटस्थ नहीं…यूक्रेन-रूस युद्ध पर PM मोदी की खरी-खरी, सीमा विवाद पर चीन को भी दिया करारा जवाब

 प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अमेरिका के दौरे के लिए रवाना हो गए हैं

PM Modi Interview To WSJ अमेरिका की राजकीय यात्रा शुरू होने से पहले पीएम नरेंद्र मोदी ने अमेरिकी प्रमुख अखबार वॉल स्‍ट्रीट जर्नल को इंटरव्‍यू दिया है। इस दौरान पीएम मोदी ने कई अहम मुद्दे पर अपना पक्ष रखा है।  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अमेरिका के दौरे के लिए रवाना हो गए हैं और  इससे पहले उन्होंने अमेरिकी अखबार वॉल स्ट्रीट जर्नल को इंटरव्यू दिया। इस इंटरव्यू के दौरान पीएम मोदी ने कई बड़े मुद्दों पर बात की। उन्होंने भारत-अमेरिका के संबंध, रूस-यूक्रेन युद्ध और भारत-चीन के बीच के सीमावर्ती मुद्दों को लेकर भी अपना पक्ष रखा। पीएम मोदी के इस दौरे को भारत-अमेरिका के द्विपक्षीय रिश्ते की मजबूती के लिए बेहद अहम माना जा रहा है। 

रूस-यूक्रेन युद्ध के सवाल पर बोले पीएम मोदी

वॉल स्ट्रीट जर्नल को दिए इंटरव्यू में पीएम नरेंद्र मोदी से रूस-यूक्रेन युद्ध को लेकर सवाल किया गया, जिसके जवाब में पीएम मोदी ने कहा कि भारत शांति के पक्ष में है और शांति ही भारत की प्राथमिकता है।

उन्होंने कहा, “सभी देशों को अंतरराष्ट्रीय कानून और देशों की संप्रभुता का सम्मान करना चाहिए। विवादों को कूटनीति और संवाद से सुलझाया जाना चाहिए, न कि युद्ध से। कुछ लोग कहते हैं कि हम तटस्थ हैं, लेकिन हम तटस्थ नहीं हैं। हम शांति के पक्ष में हैं, दुनिया को पूरा भरोसा है कि भारत की सर्वोच्च प्राथमिकता शांति है।”

बेहद अहम है पीएम मोदी का दौरा

मोदी मंगलवार को अमेरिका की राजकीय यात्रा पर रवाना हुए, जिसे द्विपक्षीय संबंधों के लिए एक महत्वपूर्ण मोड़ के रूप में देखा जा रहा है। इस दौरे पर दोनों देश रक्षा और उच्च प्रौद्योगिकी पर ध्यान केंद्रित करेंगे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि नई दिल्ली और वाशिंगटन के बीच संबंध पहले से कहीं अधिक मजबूत और गहरे हैं।

पहले से ज्यादा इंटरकनेक्टेड और इंटरडिपेंडेंट दुनिया

पीएम मोदी ने कहा कि भारत और अमेरिका के नेताओं में एक-दूसरे के प्रति अभूतपूर्व विश्वास पैदा हुआ है। उन्होंने कहा, “हम भारत को किसी अन्य देश के पीछे नहीं देखते हैं, हम भारत को दुनिया में उसकी सही जगह देख रहे हैं।” पीएम मोदी ने कहा कि आज की दुनिया पहले से कहीं ज्यादा इंटरकनेक्टेड और इंटरडिपेंडेंट हैं। उन्होंने कहा कि सप्लाई चेन में और विविधता लाने की जरूरत है।

Post Comment

You May Have Missed