विपक्षी गठबंधन के नाम पर CM नीतीश की नाराजगी की चर्चा पर JDU ने तोड़ी चुप्पी

  PM मोदी से की विपक्षी गठबंधन के लिए वोट मांगने की अपील

बेंगलुरु में 26 दलों की संयुक्त बैठक के बाद विपक्षी गठबंधन का नाम ‘इंडिया’ रखा गया है। हालांकि, बैठक के बाद प्रेस कांफ्रेंस से पहले ही लालू-तेजस्वी के साथ सीएम नीतीश कुमार पटना के लिए रवाना हो गए, जिसके बाद चर्चाओं का बाजार गर्म हो गया कि नीतीश कुमार को ‘INDIA’ नाम सही नहीं लगा और उन्होंने गठबंधन के नाम पर आपत्ति जताई थी।

नीतीश कुमार की नाराजगी की एक और वजह उन्हें विपक्षी खेमे का संयोजक नहीं बनाए जाने को लेकर भी बताई जा रही है। सियासी गलियारों में सीएम नीतीश को लेकर अटकलबाजियों के बीच जदयू ने इसपर चुप्पी तोड़ी है। बुधवार को जदयू अध्यक्ष राजीव रंजन उर्फ ललन सिंह ने कहा कि नीतीश कुमार विपक्षी एकता के सूत्रधार हैं। जो व्यक्ति सबको एक साथ लेकर आया है, वह कभी नाराज नहीं हो सकता। ललन सिंह ने कहा कि ‘इंडिया’ नाम सबकी सहमति से तय हुआ है।

PM मोदी से की विपक्षी गठबंधन के लिए वोट मांगने की अपील

वहीं, विपक्षी गठबंधन के नाम पर भाजपा नेताओं की बयानबाजी पर ललन सिंह ने कहा कि मैंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का एक वीडियो देखा है, जिसमें पीएम कह रहे हैं- ‘वोट फॉर इंडिया, वोट फॉर इंडिया, वोट फॉर इंडिया’। अब मोदी जी ‘I.N.D.I.A’ के लिए वोट मांगें और मैदान छोड़कर चले जाएं।

एनडीए की बैठक पर जदयू ने उठाए सवाल

वहीं, विपक्षी दलों की बैठक के बीच दिल्ली में 18 जुलाई को प्रधानमंत्री के नेतृत्व में एनडीए की बैठक भी हुई। ललन सिंह ने इसपर कहा कि मैं पांच साल तक एनडीए का हिस्सा रहा और आज तक पीएम मोदी ने एनडीए के साथ कभी बैठक नहीं बुलाई। अब उन्होंने बैठक क्यों बुलाई? वे 2024 के चुनाव में हार जाएंगे।

Post Comment

You May Have Missed