ब्लॉगः कोरोना के बढ़ते मामलों पर राज्य भी गलत हैं, उनसे क्यों नहीं पूछते सवाल

0
4

मौत चाहे अकेली हो या हजार, उसके आंकड़े प्रशासनिक नाकामी और कामयाबी की कहानियों को समझाने का जरिया बन जाते हैं। और कोरोना के चलते मौत के जो आंकड़े इन दिनों आ रहे हैं, वे हर लिहाज से दारुण हैं। ऐसे में सवाल उठना लाजिमी है कि आखिर चूक कहां हुई। भारतीय संविधान के मुताबिक, स्वास्थ्य राज्य सूची का विषय है। फिर भी, कोरोना के बढ़ते मामलों को लेकर चौतरफा सवालों के घेरे में केंद्र की मोदी सरकार है। पूछा जा रहा है कि कोरोना की दूसरी लहर के लिए केंद्रीय स्तर पर तैयारी क्यों नहीं की गई। राज्यों से भी सवाल पूछे जाने चाहिए, लेकिन ऐसा कम ही नजर आ रहा है।