ब्लॉगः मित्र ऐसे हों तो किसानों को शत्रु का क्या काम

0
19

दिल्ली की सीमाओं पर विरोध प्रदर्शन कर रहे किसान का हाल काफी हद तक जोनाथन स्विफ्ट के बहुचर्चित वृत्तांत ‘गुलिवर्स ट्रैवल्स’ के गुलिवर जैसा हो गया है। भारत के आधुनिक मिथकों के महायोद्धा इस ‘अन्नदाता’ के पास हिल-डुल पाने की भी गुंजाइश नहीं बची है, क्योंकि वह 21वीं सदी के लिलिपुटवासियों की तरह-तरह की महत्वाकांक्षाओं से खुद को जकड़ा हुआ पा रहा है।