मुझे RJD से निकालने की हिम्मत किसी में नहीं….तेजप्रताप ने एक लाइन में दिए कई जवाब

0
9

पटना
आरजेडी मुखिया लालू प्रसाद यादव के बड़े लाल पूरी तरह बगावती मूड में आ गए हैं। उन्होंने दो टूक शब्दों में कह दिया है कि आरजेडी से उन्हें निकालने की हिम्मत किसी में भी नहीं है। एक न्यूज चैनल से बातचीत में तेजप्रताप यादव ने कहा कि मेरा किसी से कोई विवाद नहीं है। परिवार अलग जगह है और सियासी लड़ाई अलग जगह है। मुझे आरजेडी से कोई नहीं निकाल सकता। यही नहीं तेजप्रताप यादव ने कहा कि उनका भाई तेजस्वी यादव से भी कोई विवाद नहीं है।

जेपी जयंती पर तेजप्रताप ने की पदयात्रा, फिर दो टूक कही ये बातदरअसल, जेपी जयंती पर तेजप्रताप यादव की पदयात्रा थी, इससे पहले उनकी मां राबड़ी देवी पटना पहुंचीं। ऐसा माना जा रहा था कि राबड़ी देवी बेटे तेजप्रताप को मनाकर उनकी पदयात्रा रोकने के लिए आई थीं। हालांकि, राबड़ी देवी से तेजप्रताप की मुलाकात ही नहीं हो पाई। इस बीच तेजप्रताप ने सोमवार पदयात्रा निकाली। वो नंगे पांव जेपी गोलंबर से अगमकुआं इलाके में स्थित जयप्रकाश नारायण के आवास पर पहुंचे और उन्हें अपनी श्रद्धांजलि दी। इसी के बाद उन्होंने एक न्यूज चैनल से बातचीत में पार्टी में उनकी स्थिति के संबंध में अपनी बात रखी।

लालू के लाल बोले- मेरा किसी से विवाद नहींतेजप्रताप यादव ने कहा, ‘मेरा किसी से कोई विवाद नहीं है। मेरा विवाद बिहार के सीएम नीतीश कुमार और आरएसएस के साथ है। परिवार अलग जगह है और अपनी सियासी लड़ाई अलग जगह है।’ हाल ही आरजेडी उपाध्यक्ष शिवानंद तिवारी के उस बयान को लेकर भी सवाल किया गया जिसमें उन्होंने कहा था कि ‘तेजप्रताप आरजेडी में हैं ही कहां, उन्होंने अलग संगठन बना लिया है।’ इस पर भी लालू के बड़े लाल ने खुलकर अपनी बात रखी।

तेजप्रताप बोले- मुझे आरजेडी से निकालने की हिम्मत कौन कर सकता हैतेजप्रताप यादव ने कहा कि मुझे पार्टी से निकालने की हिम्मत किसी में नहीं है। उन्होंने कहा कि ‘मैं जयप्रकाश नारायण का अनुयायी हूं। कृष्ण भक्त हूं। भला मुझे आरजेडी से निकालने की हिम्मत कौन कर सकता है।’ यही नहीं तेजप्रताप यादव ने ये ही कहा कि जब पिता जी (लालू यादव) बिहार आएंगे तो मैं उन्हें सभी जगह घुमाने के लिए ले जाऊंगा।

तेजप्रताप की यात्रा पर क्या बोले तेजस्वीभले ही तेजप्रताप यादव कह रहे हों कि उनका किसी से कोई विवाद नहीं है। हालांकि, जिस तरह से उन्होंने जेपी जयंती पर पदयात्रा निकाली उसको लेकर जब उनके छोटे भाई तेजस्वी यादव से सवाल किया गया तो उन्होंने बस इतना ही कहा सभी को शुभकामना है, अच्छी बात है, सभी लोग मनाते हैं। तेजस्वी यादव ने जिस तरह से पूरे मामले पर जवाब दिया उससे कहीं न कहीं दोनों भाईयों के बीच तल्खी साफ नजर आई।