लखीमपुर हिंसा : संघ के किसान संगठन ने कहा निष्पक्ष जांच नहीं हुई तो सरकार को भुगतना होगा

0
13

नई दिल्लीराष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के किसान संगठन ने कहा है कि अगर लखीमपुर खीरी मामले में निष्पक्ष जांच नहीं हुई तो सरकार को भुगतना होगा। हालांकि सरकार पर पूरा भरोसा जता रहा है लेकिन उसने यह भी कहा कि सरकार को अगर दाग से बचना है तो पहले से सतर्क रहे। किसान संघ के राष्ट्रीय महामंत्री ने कहा कि सरकार चाहे तो मंत्री (अजय मिश्रा) की पहले छुट्टी भी कर सकती है, यह सरकार को सोचना है।

एनबीटी ने किसान संघ के महामंत्री से पूछा कि क्या अगर अजय मिश्रा मंत्री पद पर बने रहे तो सही जांच हो पाएगी और क्या उन्हें जांच होने तक अपने पद से इस्तीफा देना चाहिए? इस सवाल पर चौधरी ने कहा कि इस्तीफे की मांग सभी कर रहे हैं। लेकिन अगर जांच करने वाला व्यक्ति का समाज पर विश्वास हो तो कोई जांच से बच नहीं सकता। चाहे कोई मंत्री पद पर हो, कितना ही प्रभावशाली हो या फिर कोई सामान्य व्यक्ति।

उन्होंने कहा कि मंत्री के बेटे पर एफआईआर हुई है, ऐसे बहुत से केस मिल जाएंगे जहां एफआईआर तक नहीं हुई है। हमारा भरोसा है कि जांच निष्पक्ष होगी। उन्होंने कहा कि ‘सरकार को दाग से बचना हो तो पहले से सतर्क रहे, वह पहले छुट्टी भी (मंत्री का इस्तीफा) कर सकती है, यह सरकार सोचेगी। अगर निष्पक्ष जांच नहीं हुई तो सरकार को भुगतना होगा, सरकार पर दाग लगेंगे। जनता तो इस्तीफे की मांग कर रही है।’

क्या आप भी इस मांग के समर्थन में हैं? इस पर किसान संघ नेता ने कहा कि हम तो भरोसा रख रहे हैं कि जो भी सरकार करेगी गलत नहीं करेगी। जब रिटायर्ड जज जांच करेंगे तो कोई सरकार या मंत्री प्रभावित कर सकते हैं क्या, ऐसी शंका मन में नहीं रखनी चाहिए। उन्होंने कहा कि घटना की निष्पक्ष जांच होनी चाहिए और जो भी इसके पीछे है उस तक कानून के हाथ पहुंचने चाहिए। जो लोग मरे हैं उनके परिवार वालों को न्याय मिलना चाहिए।