लखीमपुर खीरी हिंसा मामला, कपिल सिब्बल ने पत्र लिखकर सीएम योगी और पीएम मोदी से पूछे ये सवाल

0
13

नई दिल्ली
लखीमपुर खीरी हिंसा का मामला अभी शांत नहीं हुआ है। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कपिल सिब्बल और विवेक तनखा ने उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ को चिट्ठी लिखी है। इसी चिट्ठी की एक कॉपी पीएम को भी भेजी गई है। सिब्बल ने सिल सिलेवार तरीके से कई सवाल उठाए हैं। उन्होंने पीएम और सीएम से पूछा कि अब तक केंद्रीय मंत्री अजय मिश्र का इस्तीफा क्यों नहीं लिया गया।

पत्र में सिब्बल ने लिखा है कि 3 सोशल मीडिया पर आए वीडियो के मुताबिक तीन अक्टूबर को किसान कृषि बिलों को लेकर विरोध कर रहे थे और इसी दौरान उन्हें गाड़ी से बुरी तरह कुचल दिया गया। जिससे कई किसानों की मौत हो गई। जब प्रियंका गांधी ने लखीमपुर पहुंचने की कोशिश की तो उन्हें भी गिरफ्तार कर लिया गया। प्रियंका ने किसी भी नियम को नहीं तोड़ा इसके बावजूद उन्हें गिरफ्तार किया गया।

सवाल नंबर 1- जब प्रियंका गांधी ने धारा 144 का उल्लंघन नहीं किया तो यूपी सरकार ने 3-4 अक्तूबर को गिरफ्तार क्यों किया?

सवाल नंबर 2- क्या प्रियंका गांधी से कोई अपराध करने की संभावना थी, या उनके कारण कोई वहां पर हिंसा हो सकती थी, अगर नहीं तो उन्हें सीआरपीसी की धारा 151 के तहत क्यों गिरफ्तार किया गया? उनको 24 घंटे से ज्यादा हिरासत में क्यों रखा गया?

सवाल नंबर 3- प्रियंका गांधी को वकीलों की मदद लेने से क्यों रोका गया?

सवाल नंबर 4- कानून के किस प्रावधान के तहत लखनऊ एयरपोर्ट पर मुख्यमंत्रियों, पीसीसी अध्यक्ष, सांसदों को रोका गया, उन्हें लखनऊ भी क्यों नहीं जाने दिया गया?

सवाल नंबर 5- राजनीतिक दलों और नेताओं को पीड़ित किसान परिवारों तक क्यों नहीं पहुंचने दिया गया?

सवाल नंबर 6- यूपी सरकार ने प्रियंका गांधी वाड्रा को तो गिरफ्तार कर लिया, लेकिन एफआईआर में जिनका नाम है, जिसमें गृह राज्य मंत्री के बेटे का नाम भी शामिल है, उन पर कार्रवाई क्यों नहीं हुई?

लखीमपुर खीरी हिंसा मामलाकपिल सिब्बल ने एक के बाद एक 6 सवाल किए हैं। गौरतलब है कि 3 अक्टूबर को किसान विरोध प्रदर्शन कर रहे थे। जिसके बाद किसी ने उनको टक्कर मार दी जिससे किसानों की मौत हो गई। इस मामले में गृह मंत्री के बेटे का नाम सामने आया था जिसके बाद उनके खिलाफ एफआईआर दर्ज की इसके बाद उन्होंने लिखा था कि इन हालात में भारत सरकार के गृह राज्य मंत्री अब तक अपने पद पर कैसे बने रह सकते हैं? प्रधानमंत्री ने अब तक उन्हें इस्तीफा देने को क्यों नहीं कहा? हम चाहते हैं कि हमारे सवालों का जवाब जल्द से जल्द दिया जाए और अगर ऐसा नहीं हुआ तो हम यूपी सरकार के खिलाफ कानूनी कार्रवाई का सहारा लेंगे।