पीएम ने कमला हैरिस को बताया ‘प्रेरणा स्रोत’, भारत-अमेरिका रिश्‍तों के नई ऊंचाइयां छूने की जताई उम्‍मीद

0
13

वॉशिंगटन
ने अमेरिका की उपराष्ट्रपति कमला हैरिस को दुनिया भर में कई लोगों के लिए प्रेरणा स्रोत बताया। पीएम ने भरोसा जताया है कि राष्ट्रपति जो बाइडन और हैरिस के नेतृत्व में द्विपक्षीय संबंध नई ऊंचाइयों को छुएंगे। मोदी ने शुक्रवार को अपनी द्विपक्षीय बैठक से पहले हैरिस के साथ संयुक्त संवाददाता सम्मेलन को संबोधित किया।

मोदी ने कहा, ‘आप जब अमेरिका की उपराष्ट्रपति चुनी गईं तो यह एक महत्वपूर्ण और ऐतिहासिक क्षण था। आप दुनिया भर में कई लोगों के लिए प्रेरणा स्रोत बन गईं।’ व्हाइट हाउस की वेबसाइट के अनुसार, भारतवंशी हैरिस (56) दक्षिण एशियाई मूल की ऐसी पहली अश्वेत महिला हैं जो अमेरिका की उपराष्ट्रपति बनी हैं।

प्रधानमंत्री ने कहा, ‘मुझे भरोसा है कि राष्ट्रपति जो बाइडन और आपके (हैरिस के) नेतृत्व में हमारे द्विपक्षीय संबंध नई ऊंचाइयों को छुएंगे।’ मोदी ने उपराष्ट्रपति हैरिस और उनके पति डगलस एमहॉफ को भारत यात्रा के लिए आमंत्रित किया।

पीएम मोदी ने कहा, ‘आपकी इस जीत के सफर को जारी रखते हुए भारतीय भी चाहेंगे कि आप इसे भारत में भी जारी रखें और जो आपके भारत आने की प्रतीक्षा में हैं, इसलिए मैं आपको भारत आने का निमंत्रण देता हूं।’

भारत में कोविड-19 महामारी की दूसरी लहर के दौरान जून में हैरिस के साथ हुई अपनी बातचीत को याद करते हुए मोदी ने कहा, ‘कुछ महीने पहले हमें एक-दूसरे से फोन पर बात करने का अवसर मिला था। उस समय हमने एक विस्तृत चर्चा की थी। जिस तरह से आपने मुझसे इतनी गर्मजोशी और स्वाभाविक रूप से बात की, मुझे वह हमेशा याद रहेगा।’

उन्होंने कहा, ‘वह बहुत कठिन समय था। भारत महामारी की दूसरी लहर का सामना कर रहा था, लेकिन एक परिवार और संबंधी की तरह और बेहद गर्मजोशी से आपने मदद के लिए हाथ बढ़ाया। आपने मुझसे बातचीत के दौरान जो शब्द कहे, उन्हें मैं हमेशा याद रखूंगा और मैं आपको तहे दिल से धन्यवाद देना चाहता हूं।’

उन्होंने कहा, ‘एक सच्चे मित्र की तरह, आपने तुरंत सहयोग और संवेदनशीलता से भरा संदेश दिया था और हमने पाया कि अमेरिका की सरकार, कॉरपोरेट क्षेत्र और भारतीय समुदाय सभी भारत की मदद के लिए एक साथ आए।’

हैरिस के पिता एक अश्वेत थे और उनकी माता भारतीय थीं। उनके पिता डोनाल्ड हैरिस जमैका से थे और मां श्यामला गोपालन चेन्नई में कैंसर अनुसंधानकर्ता और नागरिक अधिकार कार्यकर्ता थीं।