इंजीनियरिंग की पढ़ाई, पिता भी थे मुख्यमंत्री… जानें, कौन हैं कर्नाटक के नए सीएम बसवराज

0
21

बेंगलुरु
कर्नाटक के गृह मंत्री राज्य के नए मुख्यमंत्री होंगे। बोम्मई बुधवार को मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे। बीजेपी विधायक दल की मंगलवार देर शाम बैठक हुई। बैठक में केंद्रीय मंत्री जी. किशन रेड्डी और धर्मेंद्र प्रधान ने बोम्मई के नाम की औपचारिक घोषणा की गई। अपनी बेदाग छवि के लिए मशहूर बसवराज बोम्मई पूर्व मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा के करीबी और वफादार हैं। येदियुरप्पा ने ही बैठक में उनके नाम का प्रस्ताव रखा था।

उत्तरी कर्नाटक से आने वाले लिंगायत नेता बसवराज बोम्मई पूर्व मुख्यमंत्री दिवंगत एस आर बोम्मई के बेटे हैं। बोम्मई अभी तक येदियुरप्पा के नेतृत्व वाली सरकार में गृह, कानून, संसदीय और विधायी कार्य मंत्रालय की जिम्मेदारी संभाल रहे थे। बीजेपी व‍िधायक दल की बैठक के बाद केंद्रीय पर्यवेक्षक धर्मेंद्र प्रधान ने कहा क‍ि वरिष्ठ नेता बीएस येदियुरप्पा ने नए नेता के नाम का प्रस्ताव रखा और गोविंद करजोल, आर अशोक, के एस ईश्वरप्पा, बी श्रीरामुलु, एस टी सोमशेखर, पूर्णिमा श्रीनिवास ने इसका अनुमोदन किया तथा पार्टी के नवनिर्वाचित नेता व नए मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई होंगे। घोषणा के तुरंत बाद बोम्मई ने येदियुरप्पा से आशीर्वाद मांगा और अन्य पार्टी नेताओं ने उन्हें बधाई दी।

बुधवार सुबह 11 बजे अकेले शपथ लेंगे बोम्‍मई
कर्नाटक में बीजेपी विधायक दल के नवनिर्वाचित नेता बसवराज बोम्मई ने मंगलवार को कहा कि राज्यपाल थावरचंद गहलोत ने उन्हें सरकार बनाने का न्‍योता द‍िया है। वह 28 जुलाई को सुबह 11 बजे मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे। बोम्मई ने कहा क‍ि मैंने राज्यपाल को विधायक दल के नेता के रूप में अपने चुनाव के बारे में बता दिया है। राज्यपाल कार्यालय के अनुसार, शपथ ग्रहण समारोह राजभवन के ग्लास हाउस में होगा। बोम्मईने यह भी कहा कि वह बुधवार को अकेले शपथ लेंगे। बीजेपी विधायक दल के नेता के रूप में चुने जाने के तुरंत बाद बोम्मई कार्यवाहक मुख्यमंत्री बी एस येदियुरप्पा के साथ सरकार बनाने का दावा पेश करने के लिए राजभवन गए थे।

पहले भी येदियुरप्‍पा सरकार में थे मंत्री
बसवराज बोम्‍मई का पूरा नाम बसवराज सोमप्पा बोम्मई है और इनका जन्‍म 28 जनवरी 1960 को हुआ था। बोम्‍मई एक कुशल राजनीतिज्ञ और इंजीनियर हैं। वह कर्नाटक के वर्तमान और 23वें मुख्यमंत्री होंगे। बोम्‍मई 2008 से शिग्गांव से कर्नाटक विधान सभा के 3 बार चुने गए हैं। बोम्मई 1998 और 2008 के बीच कर्नाटक विधान परिषद के सदस्य थे। बसवराज बोम्‍मई इससे पहले पहले येदियुरप्पा के चौथे मंत्रालय में गृह राज्य मंत्री, कानून, संसदीय कार्य और कर्नाटक विधानमंडल के राज्य मंत्री थे। उन्होंने हावेरी और उडुपी जिला प्रभारी मंत्री के रूप में भी कार्य किया।

जनता दल से की राजनीत‍िक जीवन की शुरुआत
बसवराज बोम्‍मई ने पहले 2008 से 2013 के बीच जल संसाधन और सहकारिता मंत्री के रूप में कार्य किया। वह कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री एस आर बोम्मई के बेटे हैं। मैकेनिकल इंजीनियरिंग में स्नातक, उन्होंने जनता दल के साथ अपने राजनीतिक जीवन की शुरुआत की।

2008 में थामा बीजेपी का दामन
बसवराज बोम्‍मई धारवाड़ स्थानीय प्राधिकरण निर्वाचन क्षेत्र से दो बार (1998 और 2004 में) कर्नाटक विधान परिषद के सदस्य के रूप में चुने गए। उन्होंने जनता दल (यूनाइटेड) छोड़ दिया और फरवरी, 2008 में भारतीय जनता पार्टी में शामिल हो गए। 2008 के कर्नाटक राज्य चुनावों में वह हावेरी जिले के शिग्‍गांव निर्वाचन क्षेत्र से कर्नाटक विधान सभा के लिए चुने गए। बीएस येदियुरप्पा के पद से इस्तीफा देने के बाद उन्हें कर्नाटक के अगले मुख्यमंत्री के रूप में चुना गया है।

इंजीनियरिंग ग्रेजुएट हैं बोम्‍मई
बसवराज बोम्‍मई एक ग्रेजुएट इंजीन‍ियर और पेशे से एक क‍िसान और उद्योगपति हैं। सिंचाई योजनाओं में उनके योगदान और कर्नाटक में सिंचाई के मामलों के बारे में उनकी तारीफ की जाती है। उन्हें कर्नाटक के हावेरी जिले के शिग्‍गांव में भारत की पहली 100 प्रत‍िशत पाइप सिंचाई परियोजना को लागू करने का श्रेय भी दिया जाता है।