झारखंड सरकार गिराने की साजिश: बीजेपी बोली- महाराष्ट्र मॉडल पर पुलिस से कार्रवाई करवा रहे सीएम हेमंत

0
24

रांची
झारखंड में तथाकथित रूप से सरकार गिराने के मामले में हुई गिरफ्तारी पर भारतीय जनता पार्टी के विधायक दल के नेता और पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल मरांडी ने हेमन्त सरकार पर बड़ा हमला किया है। रांची स्थित पार्टी कार्यालय में मीडिया से बात करते हुए बाबूलाल मरांडी ने कहा कि हेमंत सरकार महाराष्ट्र मॉडल पर अवैध रूप से पुलिस को कठपुतली बनाकर पैसा कमाने की फिराक में कार्रवाई करवा रही है।

उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि सरकार पुलिस को आगे कर धंधा करवा रही है। गिरफ्तारी मामले में पुलिस सरकार की टूल्स बनकर कार्य कर रही है। उन्होंने कहा कि दो आरोपियों को बोकारो से 22-23 जुलाई की रात गिरफ्तार किया गया। जिन्हें कुछ खास लोग सफेद स्कार्पियो में बिठाकर रांची लाए थे। लेकिन रांची पुलिस इन युवकों की गिरफ्तारी 23-24 की रात रांची के होटल से दिखा रही है। पुलिस की यह कार्रवाई संदेह खड़ा कर रही है।

‘कोयला, बालू, दारू, आयरन और पत्थर से पैसे की वसूली में लगी हेमंत सरकार’मरांडी ने कहा कि हेमन्त सरकार कोयला, बालू, दारू, आयरन और पत्थर से पैसे की वसूली में लगी हुई है। इस कड़ी में अवैध रूप से व्यवसायियों को हड़का कर पैसे की उगाही का नाम भी जुड़ गया है। इससे पहले भी प्रदेश के 22 स्थानों पर सरकार के इशारे पर छापेमारी की गई थी। उन्होंने सवाल उठाते हुए कहा कि आखिर सूबे में हो रही छापेमारी किसके इशारे और किस सूचना पर हो रही है, सरकार को साफ करना चाहिए।

हाई कोर्ट के जज की निगरानी में जांच कराए राज्य सरकार: बीजेपी
मामले में बाबूलाल मरांडी ने मांग की है कि राज्य सरकार, हाई कोर्ट के सिटिंग जज की अध्यक्षता में एसआईटी गठन कर जांच कराए। ताकि दूध का दूध और पानी का पानी हो सके। उन्होंने गिरफ्तार तीन लोगों को अविलंब रिहा भी करने की मांग की। बीजेपी विधायक दल के नेता ने को चेतावनी भरी शब्दों में कहा कि इस प्रकार की हरकत बंद करे। सरकार का यही हाल रहा तो भारतीय जनता पार्टी चुप नहीं बैठेगी। सरकार मामले में सब कुछ सार्वजनिक करे।

राज्य के पुलिस महानिदेशक को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर बतानी चाहिए पूरी बात: बाबूलाल
मरांडी ने कहा कि इस मामले में राज्य के पुलिस महानिदेशक या विशेष शाखा के अपर पुलिस महानिदेशक को प्रेस के माध्यम से पूरी बात बतानी चाहिये लेकिन पुलिस केवल एक बयान जारी करती है। उन्होंने कहा कि पुलिस जांच के पहले ही जेएमएम समेत सभी सत्ता धारी दल की बयान बाजी जांच को भटकाने की कवायद है।