‘जेडीयू जनसंख्‍या नियंत्रण विधेयक का विरोध करती है तो नीतीश सरकार से समर्थन वापस ले BJP’

0
33

मुंबई
शिवसेना सांसद संजय राउत ने जनसंख्या नियंत्रण पर उत्तर प्रदेश सरकार के प्रस्तावित मसौदा विधेयक का स्वागत किया। साथ ही राउत ने कहा कि यदि जनता दल यूनाइटेड (जेडीयू) इस विधेयक का विरोध करती है तो बीजेपी को बिहार में नीतीश कुमार की अगुआई वाली सरकार से समर्थन वापस ले लेना चाहिए।

जनसंख्या नियंत्रण विधेयक के मसौदे के मुताबिक उत्तर प्रदेश में दो से अधिक बच्चे होने पर स्थानीय चुनाव लड़ने, सरकारी नौकरी के लिए आवेदन करने और किसी भी तरह की सब्सिडी प्राप्त करने के लिए प्रतिबंधित करने का प्रस्ताव है। शिवसेना के मुखपत्र ‘सामना’ में प्रकाशित साप्ताहिक स्तंभ में राउत ने सवाल किया कि क्या यह विधेयक ईमानदार इरादे से लाया गया है। साथ ही जोड़ा कि यह मुद्दा जाति, धर्म और राजनीति से परे होना चाहिए।

सामना के कार्यकारी संपादक राउत ने लिखा, ‘राम मंदिर के मुद्दे का समाधान हो चुका है इसलिए अब इस मुद्दे पर मतदान करने के लिए नहीं कहा जा सकता। ऐसा कहा जा रहा है कि जनसंख्या नियंत्रण विधेयक का उद्देश्य अगल साल यूपी में होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले ध्रुवीकरण करने के उद्देश्य से लाया गया है।’

उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव और बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने इस विधेयक का विरोध करते हुए इसे ‘मुस्लिम विरोधी’ करार दिया है। राउत ने ध्यान दिलाया कि उत्तर प्रदेश और बिहार की आबादी करीब 15 करोड़ है और अधिकतर लोग दूसरे राज्यों में जीविकोपार्जन के लिए पलायन करते हैं।

उन्होंने कहा कि इन राज्यों में आबादी के नियंत्रण के लिए कानूनी कदम उठाए जाने चाहिए। उन्होंने लिखा, ‘योगी आदित्यनाथ को इस पहल के लिए बधाई दी जानी चाहिए और अगर नीतीश कुमार इसका विरोध करते हैं तो बीजेपी को बिहार में समर्थन वापस ले लेना चाहिए।’