मंत्री बनने से ठीक पहले शोभा करंदलाजे ने की ‘सफाई’, क्यों डिलीट किए पुराने ट्वीट

0
29

बेंगलुरुकेंद्रीय कृषि राज्य मंत्री शोभा करंदलाजे कर्नाटक की तेजतर्रार नेताओं में से एक हैं। उडुपी-चिकमंगलुरु से बीजेपी सांसद शोभा लंबे समय से गाय तस्करी और लव जिहाद जैसे मुद्दों को लेकर मुखर रही हैं। इसके अलावा हाल ही में सीएए-एनआरसी के विरोध में हुए प्रदर्शनों के समय भी वह काफी सक्रिय रहीं। उन्होंने इस दौरान अपने ट्विटर अकाउंट से ऐसे कई ट्वीट किए जिन पर अच्छा-खासा विवाद हुआ।

हालांकि मंत्री के रूप में कार्यभार संभालने से कुछ घंटे पहले ही उन्होंने अपनी पूरी ट्विटर टाइमलाइन की ‘सफाई’ कर डाली। शोभा ने अपने सभी पुराने ट्वीट्स हटा दिए हैं। करंदलाजे संघ परिवार के साथ-साथ कर्नाटक के मुख्यमंत्री बी.एस. येदियुरप्पा की विश्वासपात्र मानी जाती हैं। मंत्री बनने से पहले उनकी ट्विटर टाइमलाइन गाय, आतंकवाद, लव जिहाद, धर्म परिवर्तन जैसे कई विवादित मुद्दों पर उनके ट्वीट्स से भरी रहती थी।

फर्जी वीडियो पोस्ट करने पर ट्रोल हुईं, तब भी नहीं डिलीट किया था ट्वीट
कुछ महीने पहले एक फर्जी वीडियो और संदेश पोस्ट करने के लिए वह ट्रोल हुई थीं, मगर उस वक्त भी उन्होंने एक भी ट्वीट डिलीट नहीं किया था। करंदलाजे राजनीतिक रूप से प्रभावशाली वोक्कालिगा समुदाय से भी ताल्लुक रखती हैं, जिससे बीजेपी के दिग्गज नेता सदानंद गौड़ा आते हैं। कैबिनेट विस्तार से कुछ घंटे पहले गौड़ा ने बुधवार को केंद्रीय मंत्रिमंडल से इस्तीफा दे दिया था।

हिंदुओं के घर का पानी रोका…शोभा के ट्वीट पर केरल में दर्ज हुआ केस
जनवरी महीने में केरल पुलिस ने बीजेपी सांसद शोभा करांदलाजे के एक विवादित ट्वीट को लेकर उनके खिलाफ केस दर्ज किया था। शोभा ने ट्वीट किया था कि केरल के मलप्पुरम में नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) समर्थक हिंदुओं के घरों में पानी की सप्लाई रोक दी गई है। मलप्पुरम पुलिस ने शोभा के खिलाफ आईपीसी 153ए, 120, 34 के तहत केस दर्ज किया गया था।

‘कश्मीर बनने की राह पर है केरल’
शोभा ने लिखा था, ‘केरल धीरे-धीरे कश्मीर बनने की राह पर है। मलप्पुरम के कुट्टीपुरम पंचायत में सीएए समर्थक हिंदुओं को पानी की सप्लाई रोक दी गई है।’ उन्होंने आगे लिखा, ‘सेवा भारती संस्था इन लोगों को फिलहाल पानी मुहैया करा रही है। क्या मीडिया ‘शांतिदूतों’ की इस असहिष्णुता को दिखाएगा?’ उनके इस ट्वीट पर जहां कई यूजर्स ने केरल सरकार को निशाने पर लिया, तो कुछ ने इसे निराधार करार दिया।

FIR पर शोभा ने दोबारा किया ट्वीट, CAA समर्थकों के साथ हो रहा भेदभावएफआईआर पर प्रतिक्रिया देते हुए शोभा ने दोबारा ट्वीट किया, ‘चेराकुन्नू में दलित परिवारों के साथ हुए भेदभाव पर कार्रवाई करने की जगह केरल सरकार ने मेरे खिलाफ केस दर्ज किया है। हम सभी को केरल की भेदभावपूर्ण वामपंथी सरकार के खिलाफ खड़े होना चाहिए। सीएए को संसद के दोनों सदनों ने पारित किया। मगर इसका समर्थन करने वालों के साथ राज्य में भेदभाव हो रहा है, उनकी नौकरी जा रही है। केरल सरकार इस पर चुप है।’