इंडियन एयरफोर्स को चाहिए 10 एंटी ड्रोन सिस्टम, वेंडर्स से मांगी है जानकारी

0
34

नई दिल्ली
इंडियन एयरफोर्स को 10 एंटी ड्रोन सिस्टम चाहिए और इन्हें लेने की प्रक्रिया शुरू की गई है। इंडियन एयरफोर्स ने टेंडर जारी कर इंडियन वेंडर्स से इसकी जानकारी मांगी है। एयरफोर्स के मुताबिक इसके लिए प्रक्रिया पहले से चल रही थी लेकिन टेंडर 28 जून को जारी किया गया है। 26 जून को एयरफोर्स स्टेशन पर हुआ ड्रोन अटैक देश में किसी भी मिलिट्री एरिया में हुआ पहला ड्रोन अटैक था, जिसके बाद ड्रोन और काउंटर ड्रोन टेक्नोलॉजी पर चर्चा तेज हुई।

स्वदेशी ड्रोन सिस्टम तलाश रही है सेनारिक्वेस्ट फॉर इंफॉर्मेशन (आरएफआई) में कहा गया है कि इंडियन एयरफोर्स 10 काउंटर अनमैन्ड एयरक्राफ्ट सिस्टम (एंटी ड्रोन सिस्टम) स्वदेशी रूट से देख रही है। सिस्टम ऐसा होना चाहिए जो दुश्मन के ड्रोन का पता कर सके, उसे ट्रैक कर सके, उसकी पहचान कर सके और उसे नष्ट कर सके। कहा गया है कि ड्रोन को मार गिराने के लिए लेजर डायरेक्टेड एनर्जी वेपन जरूर होना चाहिए। एंटी ड्रोन सिस्टम में मल्टी सेंसर, मल्टी किल सल्यूशन होना चाहिए साथ ही सिस्टम के जरिए नो फ्लाई जोन को सही से लागू करने की क्षमता होनी चाहिए और कम से कम कोलेटरल डैमेज की संभावना होनी चाहिए।

ड्रोन का पता लगाने के लिए होना चाहिए रडार सिस्टमएयरफोर्स ने जो अपनी जरूरत बताई है उसमें कहा गया है कि ड्रोन का पता लगाने के लिए सिस्टम में फेज्ड एरे रडार होने चाहिए, ड्रोन की फ्रिक्वेंसी पकड़ने के लिए रेडियो फ्रिक्वेंसी सेंसर होने चाहिए और इलैक्ट्रो ऑप्टिकल और इंफ्रारेड सिस्टम होना चाहिए ताकि दुश्मन के ड्रोन को ट्रैक कर सकें। इसमें ड्रोन को गिराने के लिए सॉफ्ट किल ऑप्शन यानी जैमर सिस्टम और हार्ड किल ऑप्शन यानी लेजर डायरेक्ट एनर्जी वेपन होना चाहिए।

होनी चाहिए ये खासियतटेंडर के मुताबिक सिस्टम में ऑपरेटर के लिए एयर सिचुएशन की पिक्चर जनरेट करने की क्षमता हो यानी अलग अलग सेंसर ऑपरेटर को एक पूरी तस्वीर दे सकें और साथ ही यूजर के पैरामीटर के हिसाब से सिस्टम अलर्ट भी दे सके। सिस्टम ऐसा हो जो स्वदेशी वीकल के ऊपर चढ़ाया जा सके और इसे रोड के रास्ते और हवाई मार्ग से एक जगह से दूसरी जगह पहुंचाया जा सके।