बंगाल में चुनाव बाद हिंसा की शिकायतों की जांच के लिए समिति गठित, NHRC के सदस्‍य राजीव जैन करेंगे अध्‍यक्षता

0
26

नई दिल्‍ली (NHRC) ने पश्चिम बंगाल में चुनाव के बाद हुई हिंसा की शिकायतों की जांच के लिए एक समिति गठित की है। कलकत्‍ता हाई कोर्ट के आदेश के अनुसार यह समिति चुनाव बाद हिंसा की शिकायतों की जांच करेगी। समिति की अध्यक्षता मानवाधिकार आयोग के सदस्य राजीव जैन करेंगे। पश्चिम बंगाल में मार्च-अप्रैल में कई चरणों में हुए चुनाव के बाद वहां हिंसा भड़क उठी थी।

एनएचआरसी के अध्‍यक्ष जस्टिस (रिटायर्ड) अरुण मिश्रा ने इस समिति का गठन किया है। इस बारे में मानवाधिकार आयोग ने एक बयान जारी किया है। इसके मुताबिक, ‘यह समिति पश्चिम बंगाल में चुनाव बाद हिंसा की शिकायतों पर कलकत्ता हाई कोर्ट के आदेशों के मुताबिक जांच करेगी।’

इसके पहले कलकत्ता हाई कोर्ट ने पश्चिम बंगाल सरकार की एक याचिका खारिज कर दी। इस याचिका में उसने मानवाधिकार आयोग से कथित मानवाधिकार उल्लंघन की घटनाओं और चुनाव बाद की हिंसा की जांच के सभी मामले वापस लेने का आग्रह किया था।

समिति के अध्यक्ष मानवाधिकार आयोग के सदस्य राजीव जैन होंगे। अधिकारियों ने बताया कि यह उन मामलों की जांच करेगी जो एनएचआरसी के समक्ष आए हैं या जिस बारे में आयोग से शिकायत की जाएगी।

एनएचआरसी ने कहा कि समिति के सदस्यों में राष्ट्रीय अल्पसंख्यक आयोग के उपाध्यक्ष आतिफ रशीद, राष्ट्रीय महिला आयोग की सदस्य राजूलबेन एल. देसाई, एनएचआरसी के महानिदेशक (जांच) संतोष मेहरा, पश्चिम बंगाल राज्य मानवाधिकार आयोग के रजिस्ट्रार प्रदीप कुमार पंजा, पश्चिम बंगाल राज्य कानूनी सेवाएं प्राधिकरण के सदस्य सचिव राजू मुखर्जी और एनएचआरसी के डीआईजी (जांच) मंजिल सैनी शामिल होंगे।