UP सरकारी केंद्रों में गेहूं खरीद का घटा अनुपात, प्रियंका गांधी ने लिखा CM योगी को पत्र

0
28

निशिकांत त्रिवेदी, लखनऊउत्तर प्रदेश के कई जिलों में गेहूं खरीद में हुई कटौती को लेकर वाड्रा ने मुख्यमंत्री को गेहूं खरीद की बढ़ोतरी की अपील की है। साथ ही अपने इस पत्र में पंजाब और हरियाणा प्रदेशों में भी गेहूं की सरकारी खरीद का जिक्र किया है।

प्रियंका गांधी ने पत्र के माध्यम से मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को उत्तरप्रदेश के सरकारी गेहूं खरीद के घटे हुए अनुपात को लेकर चिंता जाहिर की है। उन्होंने कहा है कि अप्रैल माह से सरकारी केंद्रों पर गेहूं की खरीद शुरू हुई थी लेकिन महामारी के चलते केंद्रों को बंद कर दिया गया। जिससे किसानों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ा। इन केंद्रों के खोले जाने के बाद भी किसानों को पूरी तरह राहत नही मिली। यूपी में उत्पादित 378 लाख मीट्रिक टन गेहूं का मात्र 14% हिस्सा ही इन केंद्रों पर खरीदा जा रहा है। जबकि पंजाब और हरियाणा जैसे प्रदेशों में उत्पादन का 85% तक गेहूं खरीदा जा रहा है। उन्होंने यूपी में बहुत से गांवों में बंद हुए क्रय केंद्रों का भी जिक्र करते हुए कहा है कि इन बन्द क्रय केंद्रों की वजह से किसानों को दूर की मंडियों में जाने के लिए मजबूर होना पड़ रहा है।

किसानों के आर्थिक नुकसान का किया जिक्रप्रियंका गांधी ने अपने पत्र में मुख्यमंत्री को बताया है कि प्रदेश के कई हिस्सो में लगातार बारिश जारी है। इस कारण नमी से गेहूं सड़ने का खतरा बना हुआ है। गेहूं सड़ने से किसानों की गाढ़ी पसीने की कमाई को किसान निम्न दर पर बेंचने को तैयार हैं। कोरोना महामारी और महंगाई के कारण किसानों की आर्थिक हालत पहले से खराब हो गयी है। प्रियंका गांधी ने प्रदेश के सभी सरकारी केंद्रों पर 15 जुलाई तक गेहूं खरीद की मांग की है, साथ ही गेहूं खरीद के अनुपात को बढ़ाने के लिये भी कहा है।