अक्टूबर-नवंबर तक आ सकती है कोरोना की तीसरी लहर, लेकिन हल्की रहने के आसार

0
26

नई दिल्ली
देशभर में अभी सेकंड वेव खत्म नहीं हुई थी कि तीसरी वेव पर चर्चाएं तेज हो गईं। कुछ एक्सपर्ट्स का कहना था कि तीसरी वेव आएगी तो कुछ का मानना था कि तीसरी वेव के चांस ना के बराबर हैं। आइए जानते हैं एपिडेमियोलॉजिस्ट डॉ. चंद्रकांत लहारिया से जिन्होंने हमारे सहयोगी अखबार द टाइम्स ऑफ इंडिया (ToI) को बताया कि कोरोना वायरस की तीसरी वेव अक्टूबर-नवंबर में आ सकती है लेकिन यह वेव पहली या दूसरी वेव के मुकाबले हल्की होगी।

इन वजहों से हल्की रहेगी तीसरी लहर
तीसरी वेव के पीछे डॉ. लहारिया की दलील है कि अनअधिकृत आंकड़े के मुताबिक इस वक्त देश की करीब 40 से 50 करोड़ की आबादी ऐसी है जो संक्रमित हो चुकी है। इनमें एंटीबॉडीज हैं। बाकी बचे लोगों में से कुछ ऐसी आबादी है जिसकी वैक्सीनेशन हो चुकी है इसलिए इनमें भी एंटीबॉडीज बन चुकी हैं। जो बची हुई आबादी रह जाएगी, उनमें केस बढ़ने की आशंका है। हालांकि तीसरी वेव जो आएगी, वह हल्की होगी। यदि रोजाना 10 हजार केस आ रहे हैं तो उस वक्त केस बढ़कर 20 से 25 हजार तक पहुंच जाएंगे। इससे ज्यादा फर्क नहीं पड़ेगा, लेकिन लगातार घटते हुए केस के बाद यदि केस बढ़ने लगते हैं तो उसे वेव ही माना जाता है। ऐसा कई देशों में देखा जा चुका है।

कुछ राज्यों पर ज्यादा खतरा
उनका कहना है कि नैशनल लेवल पर तीसरी वेव से ज्यादा खतरा कुछ राज्यों पर होगा। कुछ राज्य या केंद्र शासित प्रदेश ऐसे हो सकते हैं जहां अक्टूबर-नवंबर तक केस बढ़ सकते हैं। दिल्ली में भी चार वेव आ चुकी हैं इसलिए राज्यों को संभलकर चलने की जरूरत है। डॉ. लहारिया का कहना है कि तीसरी वेव आने के पीछे कोरोना के बदलते वैरियंट भी जिम्मेदार हैं। सेकंड वेव में डेल्टा वैरियंट ने लोगों को बेहद तेजी से संक्रमित किया है। अब इसका नया वैरियंट डेल्टा प्लस मिला है और यह वैरियंट 60 से 70 प्रतिशत ज्यादा लोगों को संक्रमित करते हैं।

यदि देश में वैरियंट बदलते रहेंगे तो कोरोना की तीसरी वेव के चांस बने रहेंगे। ज्यादातर बड़े देशों को देखें तो सभी में तीसरी वेव आई है। रूस में तीन वेव आ चुकी हैं, ब्रिटेन में तीसरी वेव अभी शुरू हुई है। कई अन्य देश हैं जहां तीसरी वेव आ रही है। इसलिए संभावना है कि भारत में भी तीसरी वेव आए। देश में वैक्सीनेशन तेज कर दिया जाए, कम समय में ज्यादा से ज्यादा लोगों को वैक्सीन लगाई जाए तो तीसरी वेव का असर उतना नहीं होगा।

देश में 62 हजार नए केस
देश में 24 घंटे में 62,224 नए मामले सामने आए हैं। 1,07,628 लोग रिकवर हुए हैं और 2,542 लोगों की जान गई है। दो दिन से कोरोना से होने वाली मौतें तीन हजार से कम रिपोर्ट की जा रही हैं। 9 दिनों से देश में नए केस एक लाख से कम आ रहे हैं। आखिरी बार 7 जून को एक लाख नए केस आए थे।