मोदी के ऐलान के बाद राहुल का सवाल, टीके सबके लिए मुफ्त हैं तो निजी अस्पताल पैसा क्यों लेंगे ?

0
26

नयी दिल्ली
कांग्रेस पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने सभी नागरिकों के टीकाकरण के लिए राज्यों को मुफ्त टीका मुहैया कराने की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की घोषणा के बाद सोमवार को सवाल किया। राहुल गांधी ने कहा कि अगर टीके सभी के लिए मुफ्त हैं तो फिर निजी अस्पतालों को पैसा क्यों लेना चाहिए। उन्होंने ट्वीट किया, ‘एक साधारण सवाल: अगर टीके सभी के लिए मुफ्त हैं तो फिर निजी अस्पतालों को पैसे क्यों लेने चाहिए।’

21 जून से सभी का मुफ्त वैक्सीनेशन गौरतलब है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को कहा कि 18 साल से अधिक उम्र के सभी नागरिकों के टीकाकरण के लिए राज्यों को 21 जून से मुफ्त टीका उपलब्ध कराया जाएगा और आने वाले दिनों में टीकों की आपूर्ति में बड़े पैमाने पर बढ़ोतरी की जाएगी। उन्होंने राष्ट्र के नाम संबोधन में यह ऐलान भी किया कि कुल टीके में 75 प्रतिशत की खरीद सरकार करेगी और 25 फीसदी अब भी निजी अस्पतालों को मिलेंगे, लेकिन वे प्रति खुराक 150 रुपये से ज्यादा सेवा शुल्क नहीं ले सकेंगे।

150 रुपये का क्या है मतलबपीएम मोदी ने देश के नाम संबोधन में ऐलान किया है कि अब पूरे देश में कोरोना वैक्सीन मुफ्त में लगाई जाएगी। उन्होंने कहा कि अगर कोई पैसे देकर वैक्सीन लगवाना चाहता है तो वो भी सुविधा जारी रहेगी। पीएम मोदी ने कहा कि निजी अस्पतालों में पैसे देकर वैक्सीनेशन भी जारी रहेगा लेकिन इस दौरान सरचार्ज 150 रुपये से ज्यादा नहीं होगा। पीएम मोदी ने कहा कि जो लोग पैसे देखकर वैक्सीन लगवाना चाहते हैं वो लोग ऐसा कर सकते हैं।

कांग्रेस नेता का तंजपीएम मोदी के संबोधन के बाद कांग्रेस के तमाम नेता उन पर हमलावर हो रहे हैं। इंडियन यूथ कांग्रेस के नेशनल प्रेसीडेंट श्रीनिवास बीवी ने ट्वीट करते हुए लिखा, ‘पीएम को ‘दूरदर्शी’
की सलाह मानने में एक महीने से ज्‍यादा समय लग गया।’ उन्‍होंने राहुल गांधी का पुराना ट्वीट साझा करते हुए अपनी बात कही। 29 अप्रैल 2021 को किए गए इस ट्वीट में राहुल गांधी ने सभी को मुफ्त वैक्‍सीन देने की बात कही है। श्रीनिवास ने उनकी इस बात को हाईलाइट किया है।