बच्‍चों के लिए वैक्‍सीन की जगी उम्‍मीद, दिल्‍ली एम्‍स में सोमवार से कोवैक्‍सीन का ट्रायल होगा शुरू

0
30

नई दिल्‍ली
बच्‍चों को जल्‍द ही कोरोना वैक्‍सीन मिलने की उम्‍मीद जग रही है। इस दिशा में एक और कदम आगे बढ़ा है। दिल्‍ली स्थित अख‍िल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्‍थान (AIIMS) भी सोमवार से बच्‍चों पर भारत बायोटेक की कोविड-19 वैक्‍सीन ‘कोवैक्‍सीन’ का ट्रायल शुरू करने वाला है। सूत्रों के हवाले से न्‍यूज एजेंसी एएनआई ने यह रिपोर्ट दी है।

भारत बायोटेक को से 11 मई को बच्‍चों पर क्‍लीनिकल ट्रायल की मंजूरी मिली थी। इसके बाद बीते हफ्ते एम्‍स पटना ने 2 से 18 साल की उम्र के शुरू किया था।

डीसीजीआई ने बच्‍चों पर कोवैक्‍सीन के दूसरे और तीसरे चरण के ट्रायल के लिए मंजूरी दी है। कई अन्‍य संस्‍थानों के साथ एम्‍स-दिल्‍ली को भी ट्रायल साइट के लिए चुना गया है। अन्‍य संस्‍थानों में एम्‍स-पटना और नागपुर स्थित मेडिट्रिना इंस्‍टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस शामिल हैं।

बीते हफ्ते एम्‍स पटना के डायरेक्‍टर डॉ प्रभात कुमार सिंह ने बताया था कि ने 12 से 18 साल की उम्र के बच्‍चों पर ट्रायल शुरू किया है। इसके बाद 6-12 साल की उम्र के बच्‍चों पर ट्रायल किया जाएगा। इसके बाद ट्रायल के लिए 2-6 साल के बच्‍चों को शामिल किया जाएगा।

हाल में नीति आयोग के सदस्‍य (हेल्‍थ) वीके पॉल ने कहा था कि कोवैक्‍सीन को डीसीजीआई ने मंजूरी दी है। उसे 2 से 18 साल के आयु वर्ग के लिए क्‍लीनिकल ट्रायल की अनुमति दी गई है।

भारत बायोटेक की कोवैक्‍सीन का ट्रायल 525 हेल्‍थी वॉलेंटियर्स पर होगा। इन्‍हें देश के अलग-अलग हिस्‍सों से लिया जाएगा। ट्रायल में विभिन्‍न पहलुओं का अध्‍ययन किया जाएगा। मसलन, यह बच्‍चों के लिए कितनी सुरक्षित है, इसके साइड इफेक्‍ट्स है कि नहीं इत्‍यादि।