‘…तो छोड़ दूंगा CM की कुर्सी’, कर्नाटक में हलचल के बीच येदियुरप्पा की दो टूक

0
32

बेंगलुरु
कर्नाटक के मुख्यमंत्री बी. एस. येदियुरप्पा (B.S. Yediyurappa) ने राज्य में काफी समय से जारी नेतृत्व परिवर्तन की चर्चा पर पहली बार चुप्पी तोड़ी है। सीएम ने रविवार को कहा कि उन्हें ऐसा नहीं लगता है कि प्रदेश में बीजेपी के अंदर नेतृत्व का विकल्प नहीं है। उन्होंने यह भी कहा कि जिस दिन पार्टी के केंद्रीय नेतृत्व की तरफ से आदेश आएगा, वह अपना पद छोड़ देंगे।

सीएम येदियुरप्पा ने अपनी कुर्सी पर मंडराते खतरे के सवाल पर जवाब देते हुए कहा, ‘जब तक दिल्ली हाई कमांड का विश्वास बरकरार है, तब तक मैं मुख्यमंत्री के पद पर बना रहूंगा। जिस दिन वहां से आदेश आ जाएगा, मैं इस्तीफा देकर राज्य के कल्याण में पूरी तरह से जुट जाऊंगा। मेरी स्थिति बिल्कुल स्पष्ट है। मुझे मौका मिला है, जिसका अपनी तरफ से पूरा सदुपयोग कर रहा हूं। बाकी सभी चीजें केंद्रीय नेतृत्व पर निर्भर है।’

उन्होंने कहा, ‘कर्नाटक बीजेपी में मेरे अलावा कोई विकल्प की कमी होगी, ऐसा मैं नहीं मानता हूं। देश के हर राज्य में विकल्प मौजूद हैं। जब तक बीजेपी की केंद्रीय नेतृत्व का भरोसा बरकरार है, मैं मुख्यमंत्री के रूप में कार्य करता रहूंगा।’ हालांकि सीएम ने मंत्री सी.पी. योगेश्वर और कुछ विधायकों के बयानों पर किसी तरह की प्रतिक्रिया नहीं दी।

बेटे ने की थी नड्डा से मुलाकात
कर्नाटक के कद्दावर नेता 78 वर्ष के येदियुरप्पा की तरफ से ऐसा स्पष्ट और कड़ा बयान ऐसे समय में आया है, जब उनके बेटे और बीजेपी प्रदेश उपाध्यक्ष बी. वाई. विजयेन्द्र ने दो दिन पहले ही बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जे. पी. नड्डा से मुलाकात की है। वहीं बीजेपी के राष्ट्रीय महासचिव सी. टी. रवि ने भी येदियुरप्पा का समर्थन किया है।