कोरोना से जंग, हरियाणा के विशेषज्ञ डॉक्टरों को रोजाना मिलेगा 10 हजार रुपये वेतन

0
45

चंडीगढ़
हरियाणा में बेकाबू होते कोरोना वायरस () को रोकने के लिए सरकार ने कुछ विशेषज्ञ डॉक्टरों को अपने साथ जोड़ा फैसला किया है। इन विशेषज्ञ डॉक्टरों को रोजाना 10,000 रुपये का वेतन दिया जाएगा। इस तरह के स्पेशलिस्ट डॉक्टरों को प्रति घंटे के हिसाब से 1200 रुपये का भुगतान मिलेगा। इसके अलावा सरकार कुछ महामारी विशेषज्ञों को भारी भरकम वेतन पर अपने साथ जोड़ने जा रही है ताकि मौजूदा कोरोना संक्रमण को काबू में किया जा सके।

राज्य सरकार ने की हैं 852 भर्तियां राज्य सरकार नैशनल हेल्थ मिशन (NHM) के तहत इन विशेषज्ञों को भर्ती करेगी। इस बारे में राज्य सरकार ने हाल ही में फैसला लिया था ताकि मौजूदा कोविड संकट से राज्य को बचाया जा सके। राज्य सरकार ने NHM के तहत 852 भर्तियां की हैं। प्रदेश सरकार का यह फैसला राज्य सरकार के उस फैसले से अलग है जिसके तहत राज्य में हरियाणा मेडिकल सर्विसेज (HCMS) कैडर के रिटायर्ड चिकित्सा अधिकारियों को जोड़ा गया था।

महामारी को काबू में करने के लिए उठाए जा रहे कदम
इस तरह के HCMS डॉक्टर की उम्र 70 साल से ज्यादा नहीं होनी चाहिए। इन डॉक्टरों को राज्य सरकार ने एक साल के लिए अपनी सेवाएं देने के लिए शामिल किया है ताकि महामारी पर काबू पाया जा सके। राज्य के हेल्थ एंड फैमिली वेलफेयर डिपार्टमेंट की ओर से मुख्य सचिव विजय वर्धन ने हाईकोर्ट को सौंपी गई स्टेटस रिपोर्ट में इस बारे में विस्तृत जानकारी दी है।

सरकार के लाख प्रयासों के बावजूद नहीं थम रही कोरोना की रफ्तार
रिपोर्ट में वर्धन ने कहा कि ज्यादा से ज्यादा डॉक्टरों को शामिल करने से कोरोना के प्रसार को रोकने में मदद मिलेगी। हरियाणा सरकार के तमाम प्रयासों के बावजूद कोरोना संक्रमण काबू नहीं हो रहा है। राज्य में लगाए गए लॉकडाउन के बावजूद संक्रमण के नए केसों की संख्या घटने के बजाय बढ़ रही है। संक्रमण दर 7.17 प्रतिशत पहुंच गई है और रिकवरी दर 79.10 पर ठहरी है। राज्य में मृत्यु दर 0.88 प्रतिशत है।