ऑक्सिजन सप्लाई पर सरकार की पैनी नजर, पीएम मोदी ने की हाई लेवल मीटिंग

0
2

नई दिल्ली
देश में कोरोना के बढ़ते मामलों के कारण ऑक्सिजन की संकट खड़ा हो गया है। इस बीच सरकार ने मंगलवार को बताया कि लिक्विड मेडिकल ऑक्सिजन (एलएमओ) का उत्पादन बढ़कर प्रतिदिन 8,922 टन हो गया है, जिसके महीने के अंत तक प्रतिदिन 9,250 टन से अधिक हो जाने की उम्मीद है। सरकार के मुताबिक पिछले साल अगस्त में एलएमओ का प्रतिदिन केवल 5,700 टन उत्पादन होता था।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को मंगलवार को एक उच्च स्तरीय बैठक में इस जीवन रक्षक गैस के बढ़ते उत्पादन के बारे में जानकारी दी गई। कोविड-19 के बढ़ते मामलों के बीच कई स्थानों में ऑक्सिजन की कमी की खबरें सामने आई हैं। प्रधानमंत्री कार्यालय के मुताबिक बैठक में मोदी ने अधिकारियों को निर्देश दिया कि वे जल्द से जल्द पीएसए ऑक्सिजन संयंत्र शुरू करने के लिए राज्य सरकारों के साथ मिलकर काम करें।

कैसे बढ़ेगी ऑक्सिजन सप्लाई
देश में ऑक्सिजन की सप्लाई बढ़ाने के लिए काम कर रहे इम्पावर्ड ग्रुप ने बैठक में प्रधानमंत्री को इस गैस की उपलब्धता और आपूर्ति बढ़ाने के लिए किए जा रहे प्रयासों की जानकारी दी। ऑक्सिजन टैंकर ले जाने के लिए चलाई जा रही ऑक्सिजन एक्सप्रेज रेलवे सर्विस और भारतीय वायुसेना द्वारा संचालित की जा रही उड़ानों के बारे में भी बैठक में जानकारी दी गई।