लखनऊ के हालात देख ऐक्शन में राजनाथ, DRDO की टीम युद्धस्तर पर बनाएगी 2 कोविड अस्पताल

0
5

नई दिल्‍ली/लखनऊउत्तर प्रदेश में कोरोना वायरस कहर बरपा रहा है। पिछले 24 घंटे के अंदर 27 हजार से ज्यादा नए मामलों ने योगी सरकार की चिंता बढ़ा दी है। राजधानी लखनऊ का हाल सबसे बुरा है। यहां एक दिन में रेकॉर्ड 6598 नए केस पता चले हैं। पिछले 24 घंटों के दौरान 35 कोरोना मरीजों की मौत भी हो चुकी है। बुरे हालात को देखते हुए केंद्रीय रक्षा मंत्री और लखनऊ के सांसद राजनाथ सिंह ने कोरोना मरीजों के लिए यहां दो अस्‍पताल बनाने के आदेश दिए हैं। ये अस्‍पताल 250 से 300 बिस्तरों वाले होंगे। रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन (डीआरडीओ) की एक टीम जल्‍द इसके लिए लखनऊ आ रही है।

सूत्रों ने बताया कि शहर में दो अलग-अलग स्थानों पर मिशन मोड में इन अस्पतालों का निर्माण किया जाएगा। इससे पहले मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों से निपटने के लिए लखनऊ में एक हजार बिस्तरों वाला अस्थायी कोविड-19 अस्पताल बनाने का आदेश दिया था। डिफेंस एक्सपो आयोजन स्थल को इसके लिए चुना जा सकता है। केजीएमयू, बलरामपुर चिकित्सालय और कैंसर इंस्टिट्यूट को डेडीकेटेड कोविड अस्पताल बनाया जा रहा है। वहीं, एरा मेडिकल कॉलेज, टीएस मिश्रा मेडिकल कॉलेज, इंटीग्रल मेडिकल कॉलेज, मेयो मेडिकल कॉलेज और हिन्द मेडिकल कॉलेज भी डेडीकेटेड कोविड अस्पताल घोषित किए जा चुके हैं।

श्‍मशान घर के बाहर लंबी लाइन
लखनऊ में कोरोना से मरने वालों की संख्‍या इतनी ज्‍यादा हो गई है कि यहां के भैंसाकुंड श्‍मशान घाट के बाहर लंबी लाइन लग रही है। एक साथ कई चिताएं जलाई जा रही हैं। सूरज ढलने के बाद भी लोग अपने प्रियजनों का अंतिम संस्‍कार करने के लिए मजबूर हैं। अव्‍यवस्‍था के चलते दाह संस्‍कार के लिए उन्‍हें बाहर से लकडि़यां भी लानी पड़ रही हैं।

लखनऊ में हर रविवार को अब लॉकडाउन
राजधानी के बिगड़े हालात को देखते हुए मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने अब हर रविवार को वीकेंड लॉकडाउन लगाने का आदेश दिया है। इस दौरान स्‍वास्‍थ्‍य और जरूरी सेवाओं को छोड़कर सबकुछ बंद रहेगा। बगैर मास्‍क कोई बाहर पकड़ा गया तो उससे एक हजार रुपये का जुर्माना वसूला जाएगा। दूसरी बार बिना मास्क के पकड़े जाने पर 10 गुना बढ़ाकर 10 हजार जुर्माना ठोका जाएगा।