पाक के कई शहरों में हिंसा, भारतीय सिखों की सुरक्षा पर बोले जयशंकर- लगातार संपर्क में

0
23

नई दिल्ली/लाहौर
पाकिस्तान में धार्मिक यात्रा पर गए 800 से ज्यादा सिख श्रद्धालुओं की सुरक्षा को लेकर भारत वहां की सरकार के संपर्क में है। लाहौर समेत पड़ोसी देश के कुछ शहरों में हिंसक प्रदर्शन की वजह से इन श्रद्धालुओं का दौरा प्रभावित हुआ है। विदेश मंत्री एस जयशंकर ने ट्वीट किया, ‘गतिविधियों पर करीबी नजर है। पाकिस्तानी अधिकारियों और सिख जत्थे के संपर्क में हैं। तीर्थ यात्रियों की सुरक्षा और सही-सलामत घर वापसी के लिए पूरी कोशिश करेंगे।’

मंत्री की यह प्रतिक्रिया दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक समिति के अध्यक्ष मनजिंदर सिंह सिरसा के एक ट्वीट पर आई जिसमें उन्होंने जयशंकर से अनुरोध किया था कि वह पाकिस्तान में फंसे सिख तीर्थयात्रियों के मामले को देखें।

बैसाखी के कार्यक्रम में शामिल होने 800 से ज्यादा सिख श्रद्धालु पाकिस्तान गए हैं। भारतीय तीर्थ यात्री उत्सव में शामिल होने सोमवार को वाघा सीमा से लाहौर पहुंचे थे। मंगलवार दोपहर भारतीय तीर्थ यात्री 25 बसों में हसनअबदाल में गुरुद्वारा पंजा साहिब के लिए रवाना हुए। उनके साथ पाकिस्तानी पुलिस और रेंजर्स भी सुरक्षा में तैनात थे।

पाकिस्तान में पंजाब प्रांत की सरकार के एक अधिकारी ने लाहौर में बताया, ‘टीएलपी के प्रदर्शन के दौरान सड़कें बंद होने के कारण सिख यात्री 14 घंटे के सफर के बाद बुधवार सुबह चार बजे के बाद हसनअबदाल पहुंचे, जहां पहुंचने में अमूमन तीन घंटे लगते हैं।’

फ्रांस में पैगंबर मोहम्मद का कार्टून प्रकाशित करने के मामले में फ्रांसीसी राजदूत को निष्कासित करने की मांग कर रहे तहरीक-ए-लब्बैक पाकिस्तान (टीएलपी) के समर्थकों द्वारा सड़कें बंद किये जाने से उनकी यात्रा प्रभावित हुई। भारतीय तीर्थयात्रियों ने बुधवार को मुख्य समारोह में हिस्सा लिया जिसमें कुछ स्थानीय सिख भी शामिल हुए।

भारतीय सिख पाकिस्तान में 10 दिन के ठहराव के दौरान पंजाब में अन्य पवित्र स्थलों की भी यात्रा करेंगे।