बच्चों के जीवन से बढ़कर कुछ नहीं… CBSE एग्जाम के फैसले पर यही बोले अभिभावक

0
5

प्रयागराज
पूरे देश में बढ़ते कोविड-19 के संक्रमण के चलते इस बार केंद्र सरकार ने सीबीएसई बोर्ड की परीक्षाओं को लेकर एक बड़ा फैसला लिया है। 2021 में होने वाली सीबीएसई की दसवीं के परीक्षा को रद्द कर दिया गया है। सीबीएसई बोर्ड के अधिकारियों के साथ हुई प्रधानमंत्री की बैठक में यह फैसला लिया गया है। इस परीक्षा को रद्द होने के बाद परीक्षा में शामिल होने वाले स्टूडेंट के अभिभावक संतुष्ट हैं। अभिभावकों का कहना है प्रधानमंत्री ने इस कोविड-19 काल में बिल्कुल सही निर्णय लिया है।

देश में बढ़ते कोविड-19 के संक्रमण के चलते इस बार दसवीं की सीबीएसई बोर्ड की परीक्षा को रद्द कर दिया गया है। इस फैसले के सामने आने के बाद सीबीएसई बोर्ड में दसवीं के परीक्षा देने वाले स्टूडेंट थोड़ा सा निराश हुए हैं तो वहीं उनके माता-पिता परीक्षा रद्द होने से संतुष्ट नजर आ रहे हैं।

अभिभावक बोले-हमारे बच्चों के जीवन से बढ़कर कुछ भी नहीं
प्रयागराज के प्रीतम नगर कॉलोनी के रहने वाले दीपक सिंह और उनकी पत्नी नीलू सिंह के दो बच्चे हैं। जिसमें अंशुमान सिंह सीबीएससी बोर्ड सम्बन्धित स्कूल में पढ़ते हैं। दीपक सिंह और नीलू सिंह का कहना है हमारे बच्चों की सुरक्षा से बढ़कर हमारे लिए कुछ नहीं है। भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के फैसले का हम स्वागत करते हैं और उनको धन्यवाद भी देते हैं,क्योंकि हम लोगों को कोविड-19 के बढ़ते संक्रमण से अपने बेटे की काफी चिंता थी।

पैरंट्स खुश तो बच्चे बोले- परीक्षा की कर रखी थी पूरी तैयारी
अंशुमान ने बताया कि मैं परीक्षा को लेकर काफी तैयारी कर रहा था और मुझे उम्मीद थी मेरे अच्छा नंबर आएंगे,लेकिन परीक्षा नहीं होने से मुझे निराशा हुई है। इसी तरह 10वीं सीबीएससी स्कूल में पढ़ने वाले ध्रुव सिंह के पिता अजय सिंह और अर्जित खरे के परिवार ,अरनव शुक्ला के पिता प्रधानमंत्री के परीक्षा रद्द करने की बात से संतुष्ट है। सभी का यह कहना है कोविड-19 के बढ़ते संक्रमण की वजह से हम लोगों को अपने बच्चों की काफी चिंता थी और किस तरह परीक्षा देंगे इस बात को लेकर काफी परेशान थे ,लेकिन फैसले के आने के बाद से हम लोग अब खुश हैं।