कोरोना वैक्सीन की दूसरी डोज दूसरे राज्य में ले सकते हैं या नहीं? जानिए ऐसे सभी सवालों के जवाब

0
4

नई दिल्ली
देश इस समय कोरोना महामारी की प्रचंड लहर से जूझ रहा है। दूसरी लहर में संक्रमण बहुत तेजी से फैल रहा है। कुछ राज्य स्थानीय स्तर पर लॉकडाउन का ऐलान भी करने लगे हैं। एक बार फिर बड़ी तादाद में प्रवासी शहरों से अपने-अपने घरों के लिए निकलने लगे हैं। फिलहाल 45 साल से ऊपर के लोगों का वैक्सीनेशन हो रहा है। ऐसे में कई ऐसे भी लोग होंगे जो वैक्सीन की एक डोज तो ले चुके हैं लेकिन दूसरी डोज से पहले वह किसी अन्य जिले या राज्य में पहुंच गए हैं या पहुंचने की योजना बना रहे हैं। तो क्या कोरोना की दूसरी डोज किसी दूसरे जिले या राज्य में भी ली जा सकती है या फिर वहीं लेनी पड़ेगी जहां पहली डोज ली थी? आइए जानते हैं ऐसे ही कुछ अहम सवालों के जवाब।

क्या दूसरी डोज किसी अलग जिले/राज्य में ली जा सकती है?हां, आप किसी भी राज्य/जिले में वैक्सीन की दूसरी डोज ले सकते हैं। हालांकि, इसमें एक बंदिश जरूर है। आप सिर्फ उन्हीं टीकाकरण केंद्रों पर दूसरी डोज ले सकते हैं जहां वही वैक्सीन (कोविशील्ड या कोवैक्सीन) मौजूद हो, जो आपको पहली डोज में लगी थी। पहली डोज लगवाने के बाद जो स्लिप आपको मिलेगी, उस पर इसका जिक्र रहेगा कि आपको कोविशील्ड की डोज लगी है या कोवैक्सीन की।

क्या वैक्सीन की दूसरी डोज जरूरी है?हां, यह अनिवार्य है। भारत में अभी सिंगल डोज वैक्सीन का इस्तेमाल नहीं हो रहा है। कोविशील्ड या कोवैक्सीन के दोनों डोज जरूरी हैं, तभी टीके का पूरा लाभ मिलेगा। दोनों डोज एक ही टाइप की वैक्सीन की होनी चाहिए।

आपको वैक्सीन की दूसरी डोज कब लेनी चाहिए?अगर आपने पहली डोज कोवैक्सीन की ली है तो आपको दूसरी डोज उसके 4 से 6 हफ्तों के बीच में लेना होगी। कोविशील्ड के मामले में यह समयसीमा 4 से 8 हफ्ते की है।

क्या को-विन सिस्टम या आरोग्य सेतु ऐप से दूसरी डोज के लिए अपने आप अपॉइंटमेंट मिलेगा?नहीं, आपको दूसरी डोज के लिए भी अपॉइंटमेंट लेना पड़ेगा। को-विन सिस्टम आपको उस वैक्सीनेशन सेंटर के लिए अपॉइंटमेंट देने में मदद करेगा, जहां आपकी पहली डोज वाली वैक्सीन लगाई जा रही है।

क्या आप खुद से वैक्सीन का चुनाव कर सकते हैं?नहीं। सभी वैक्सीन सुरक्षित हैं। उनमें से चुनाव का विकल्प अभी मौजूद नहीं है।