कोरोना महामारी के बाद पहली बार PM मोदी जाएंगे देश से बाहर, बोले- खुश हूं बांग्लादेश जा रहा

0
7

नई दिल्ली
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने गुरुवार को कहा कि वह बांग्लादेश के दो दिवसीय दौरे के दरम्यान अपने समकक्ष शेख हसीना के साथ तमाम मुद्दों पर ‘गहन चर्चा’ करेंगे। साथ ही उन्होंने इस बात पर खुशी जताई कि पिछले साल कोरोना महामारी की शुरुआत के बाद उनकी पहली विदेश यात्रा ऐसे पड़ोसी मित्र देश की हो रही है, जिसके साथ भारत के गहरे संबंध हैं।

पीएम मोदी ने कहा कि वह बांग्लादेश की प्रधानमंत्री के न्योते पर 26-27 मार्च को वहां की यात्रा करेंगे। उन्होंने कहा कि वह बांग्लादेश के राष्ट्रीय दिवस समारोह में भाग लेने का इंतजार कर रहे हैं।

बांग्लादेश रवाना होने से पहले जारी एक बयान में प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, ‘मुझे खुशी है कि कोविड-19 महामारी की शुरुआत के बाद किसी ऐसे पड़ोसी मित्र देश की यह मेरी पहली विदेश यात्रा है, जिसके साथ भारत के सांस्कृतिक, भाषाई और दोनों देशों के लोगों के बीच आपस में गहरे संबंध हैं।’

बांग्लादेश में मनाई जा रही राष्ट्रपिता बंगबंधु शेख मुजीबुर रहमान की जन्मशती का जिक्र करते हुए मोदी ने कहा कि वह पिछली शताब्दी के कद्दावर नेताओं में से एक थे, जिनका जीवन और आदर्श लाखों लोगों को प्रेरित करता है। पीएम ने कहा, ‘उनकी स्मृति को अपना सम्मान देने के लिए मैं तुंगीपाड़ा में बंगबंधु की समाधि पर जाने के लिए उत्सुक हूं।’

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि वह पौराणिक परंपरा की 51 शक्तिपीठों में से एक प्राचीन जशोरेश्वरी काली मंदिर में देवी काली की पूजा करने का भी बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं।

प्रधानमंत्री ने कहा कि वह विशेष रूप से ओराकांडी में मतुआ समुदाय के प्रतिनिधियों के साथ अपनी बातचीत का बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं जहां से श्री हरिचंद्र ठाकुर जी ने अपने पवित्र संदेश का प्रसार किया था।

पीएम मोदी ने कहा, ‘पिछले वर्ष दिसंबर में प्रधानमंत्री शेख हसीना के साथ रचनात्मक वर्चुअल बैठक के बाद, मुझे उम्मीद है कि इस यात्रा के दौरान उनके साथ गहन चर्चा होगी। मैं महामहिम राष्ट्रपति अब्दुल हमीद और अन्य बांग्लादेशी गणमान्य लोगों के साथ भी अपनी बैठक की उत्सुकता से प्रतीक्षा कर रहा हूं।’

प्रधानमंत्री ने कहा, ‘मेरी यात्रा प्रधानमंत्री शेख हसीना के दूरदर्शी नेतृत्व के तहत बांग्लादेश की उल्लेखनीय आर्थिक और विकासात्मक प्रगति के लिए न केवल उनकी सराहना करने का अवसर होगी, बल्कि इन उपलब्धियों के लिए भारत के सहयोग के लिए भी प्रतिबद्ध होगी।’ उन्होंने कहा कि अपने दौरे के दौरान वह कोविड-19 के खिलाफ बांग्लादेश के संघर्ष के लिए भारत के समर्थन और एकजुटता का भी इजहार करेंगे।

इससे पहले बुधवार को विदेश सचिव हर्ष वर्धन श्रृंगला ने पत्रकारों को संबोधित करते हुए कहा था कि प्रधानमंत्री मोदी की इस यात्रा के दौरान तमाम समझौतों पर हस्ताक्षर किए जाएंगे। साथ ही अलग-अलग क्षेत्रों में सहयोग बढ़ाने के लिए नई घोषणाएं भी की जाएंगी।

श्रृंगला ने कहा कि मोदी गोपालगंज जिले के तुंगीपाड़ा में ‘बंगबंधु’ शेख मुजीबुर्रहमान के स्मारक पर भी जाएंगे। वह उस स्थान पर जाने वाले पहले गणमान्य भारतीय व्यक्ति होंगे। उन्होंने इस यात्रा को बेहद खास और महत्वपूर्ण करार दिया और कहा कि इस दौरान दोनों देशों के बीच विशेष संबंधों पर जोर रहेगा।