फडणवीस ने गिनाईं उद्धव सरकार की ‘100 नाकामियां’, कहा- महाविकास नहीं ‘महा वसूली अघाड़ी’

0
6

मुंबई
महाराष्ट्र में सियासी घमासान तेज होता जा रहा है। विपक्षी पार्टी बीजेपी ने बुधवार को राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी से मुलाकात की। उन्हें 100 पॉइंट्स की एक सूची दी गई है, जिसमें 100 नाकामियां गिनाई गई हैं। खत में कहा गया है कि कैसे सत्तारूढ़ महा विकास अघाड़ी (एमवीए) सरकार काम करने में विफल रही है। बीजेपी ने एमवीए पर संवैधानिक कर्तव्यों का निर्वहन करने में नाकामी का आरोप लगया है। साथ ही मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे से इन पर रिपोर्ट मांगने का भी आग्रह किया है।

विपक्ष के नेता देवेंद्र फडणवीस ने राजभवन से बाहर निकलने के बाद मीडिया से कहा, ‘हमने 100 पॉइंट्स की एक लिस्ट सौंपी है। मुख्यमंत्री चुप्पी साधे हुए हैं इसलिए हमने राज्यपाल से आग्रह किया है कि वह सरकार से रिपोर्ट लें।’ उन्होंने कहा कि मुंबई के पूर्व पुलिस आयुक्त परमबीर सिंह ने गृह मंत्री अनिल देशमुख पर पुलिस विभाग में ट्रांसफर और प्रमोशन में बड़े पैमाने पर भ्रष्टाचार करने का आरोप लगाया है। हालांकि, मुख्यमंत्री ने इस मुद्दे पर चुप्पी साधने का फैसला किया है और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष शरद पवार अपनी पार्टी का बचाव कर रहे हैं।

फडणवीस ने महा विकास अघाड़ी को ‘महा वसूली अघाड़ी’ कहते हुए आरोप लगाया कि सत्तारूढ़ सरकार के सभी दल शिवसेना, एनसीपी और कांग्रेस गड़बड़ियां करने और भ्रष्टाचार करने में शामिल हैं। पिछले एक साल में एमवीए सरकार कोविड-19 महामारी को हैंडल करने में भी बुरी तरह विफल रही है, इसीलिए केवल महाराष्ट्र में मामले बढ़ रहे हैं। बता दें कि परमबीर सिंह ने आरोप लगाया था कि गृह मंत्री ने निलंबित एपीआई सचिन वझे को 100 करोड़ की वसूली की टारगेट दिया था।