दिलीप घोष बोले- साड़ी नहीं बरमूडा पहनें ममता, TMC का पलटवार- बंदरों को लगता है…

0
5

कोलकाता
पश्चिम बंगाल के चुनावी घमासान में जुबानी जंग सारी मर्यादाओं को लांघ रही है। इस चुनाव में प्रचार अभियान से पहले ममता बनर्जी का चोटिल होना अहम मोड़ माना जा रहा है। सियासी मंचों से इस चोट की चर्चा लगातार हो रही है। कभी बीजेपी ने चोट पर सवाल उठाए तो कभी सहानुभूति भी जताई। इस बीच बंगाल बीजेपी के अध्यक्ष दिलीप घोष ने ममता की चोट पर विवादित बयान दिया है।

‘पांव खुला ही रखना है तो साड़ी की जगह बरमूडा पहनें’
दिलीप घोष ने ममता बनर्जी की चोट पर शर्मनाक बयान देते हुए कहा, ‘ममता को साड़ी की जगह बरमूडा पहनना चाहिए। उनका प्लास्टर कट चुका है। क्रेप बैंडेज बंधा है। पांव उठाकर लोगों को दिख रही हैं। साड़ी पहने हैं। एक पांव ढका है और दूसरा खुला है। जब उनको अपना पांव खुला ही रखना है तो साड़ी की जगह बरमूडा पहन सकती हैं।’

टीएमसी सांसद महुआ मोइत्रा का पलटवारदिलीप के इस बयान पर टीएमसी ने कड़ी प्रतिक्रिया दी है। सांसद महुआ मोइत्रा ने दिलीप पर करारा हमला करते हुए कहा, ‘बीजेपी के बंगाल अध्यक्ष दिलीप घोष ने रैली में पूछा कि ममता दीदी ने साड़ी क्यों पहनी है। उन्हें अपना पैर सही से दिखाने के लिए बरमूडा पहनना चाहिए। और इन पथभ्रष्ट बंदरों को लगता है कि वे बंगाल जीतने जा रहे हैं।’

पहले चरण के लिए 27 मार्च को मतदानबता दें कि बंगाल में पहले चरण के लिए 30 सीटों पर 27 मार्च को मतदान है। ममता बनर्जी नंदीग्राम सीट से चुनावी मैदान में हैं। यहां दूसरे चरण में 1 अप्रैल को मतदान है। ममता के खिलाफ नंदीग्राम में बीजेपी ने सुवेंदु अधिकारी को उतारा है। इस चुनाव में ये सीट सबसे हाई प्रोफाइल है। ममता बनर्जी ने 10 मार्च को नंदीग्राम से नामांकन भरा था। इसी दिन शाम को बिरुलिया बाजार में उनके पैर में चोट लग गई थी। ममता ने इसे हमला करार दिया था। हालांकि चुनाव आयोग की रिपोर्ट में इसे हादसा बताया गया है। चोट के बाद वीलचेयर के जरिए ममता प्रचार अभियान को धार दे रही हैं।