शाह का इंटरव्यू – बंगाल में 200 सीटें पक्की, बदरुद्दीन से हाथ मिला असम में घुसपैठ नहीं रोक सकती कांग्रेस

0
3

कोलकाता/ उदलगुड़ी
पश्चिम बंगाल और असम में विधानसभा चुनाव को लेकर बीजेपी अपना पूरा जोर लगा रही है। मंगलवार को असम के उदलगुड़ी में अपने एक चुनावी कार्यक्रम के दौरान () ने दावा किया कि बीजेपी बंगाल में 200 सीटें जीतने वाली है। शाह ने यहां विपक्षी दलों पर निशाना साधते हुए कहा कि कांग्रेस पार्टी बदरुद्दीन अजमल के साथ हाथ मिलाकर प्रदेश में घुसपैठ नहीं रोक सकती है।

पीटीआई को दिए अपने साक्षात्कार में बीजेपी नेता ने असम में अपनी प्रचंड जीत की भविष्यवाणी की। उन्होंने कहा कि टीएमसी को हटाने के लिए बेताब हैं। वे लोग प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के विकास के दृष्टिकोण को स्वीकार करने के लिए तैयार हैं। शाह ने दावा किया कि 294 सीट वाले पश्चिम बंगाल विधानसभा के चुनाव में बीजेपी 200 से ज्यादा सीटें जीतेगी। उन्होंने कहा कि असम में एआईयूडीएफ के साथ कांग्रेस का गठजोड़ बीजेपी की जीत का महत्वपूर्ण कारक होगा।

कांग्रेस-टीएमसी पर निशाना
शाह ने बताया कि कांग्रेस के इस फैसले से प्रदेश के वोटर्स भगवा पार्टी के निर्णायक रूप से आ जाएंगे क्योंकि, इसकी मुख्य प्रतिद्वंदी पार्टी असम में बांग्लादेशी घुसपैठ को नहीं रोक सकती। शाह ने कहा कि बदरुद्दीन अजमल के साथ हाथ मिलाकर कांग्रेस घुसपैठ को नहीं रोक पाएगी। बंगाल में बीजेपी की बड़ी जीत को लेकर उनके भरोसे की जमीन के बारे में पूछे जाने पर शाह ने कहा, ‘पार्टी ने साल 2019 के लोकसभा चुनावों के साथ ही प्रदेश में अपनी स्थिति मजबूत कर ली है। वहीं, टीएमसी का जनाधार खत्म हो गया है। इसके नेता पार्टी छोड़ रहे हैं। इनमें से ज्यादातर बीजेपी में शामिल हो गए हैं।’

लोकसभा चुनाव में मजबूत हुई बीजेपीः शाह
शाह ने कहा कि हमने साल 2019 के चुनाव में 42 में से 18 लोकसभा सीटें जीतीं। तीन सीटों पर हम बहुत कम अंतर से हारे। वह भी तब जब हमारी जीत के बारे में लोगों को संदेह था। अब उन्हें पक्का भरोसा है कि हम जीत सकते हैं। लोग बदलाव के लिए तरस रहे हैं और ऐसे लोग हमारे साथ हैं। राहुल गांधी के इस दावे के बारे में पूछे जाने पर कि कांग्रेस प्रदेश में सीएए को लागू होने से रोक देगी, शाह ने कहा कि उन्हें (राहुल को) यह भी साफ कर देना चाहिए कि वह लागू करेंगे या नहीं?

शाह ने कहा कि राहुल गांधी को बताना चाहिए कि एनआरसी को लेकर उनकी नीति क्या है? उन्होंने कहा कि बीजेपी ने जोर देकर कहा है कि वह एक संशोधित एनआरसी लागू करेगी, जो यह सुनिश्चित करेगा कि भारतीय इसमें शामिल हों और जो अवैध विदेशी हैं, उनकी पहचान हो सके।