मोदी के मंच से खुद को ‘कोबरा’ कहने वाले मिथुन चक्रवर्ती को BJP ने नहीं दिया टिकट

0
24

कोलकाता
के चुनाव से पहले भारतीय जनता पार्टी ने मंगलवार को अपनी चुनावी उम्मीदवारों की लिस्ट जारी कर दी है। बंगाल के चुनाव के लिए बीजेपी ने मंगलवार को 13 और उम्मीदवारों का ऐलान किया है, हालांकि इस लिस्ट में बॉलीवुड ऐक्टर मिथुन चक्रवर्ती का नाम नहीं है, जिन्होंने बीते दिनों बीजेपी जॉइन की थी। अब तक मिली रिपोर्ट्स में बताया जा रहा है कि मिथुन बीजेपी के लिए फिलहाल चुनाव प्रचार ही करेंगे, लेकिन उन्हें चुनाव नहीं लड़ाया जाएगा।

मिथुन चक्रवर्ती को बंगाल में रासबिहारी सीट से उम्मीदवार बनाने की चर्चा थी। हालांकि मंगलवार को जारी हुई बीजेपी की लिस्ट में इस सीट पर रिटायर्ड लेफ्टिनेंट जनरल सुब्रत साहा को दावेदार बनाया है। सुब्रत साहा कश्मीर घाटी में लंबे वक्त काम कर चुके हैं और उन्हें एक वरिष्ठ सैन्य अधिकारी के रूप में जाना जाता है।

बता दें कि बीजेपी ने मंगलवार को 13 सीट पर दावेदार उतारे हैं। इस सीट पर सुब्रत साहा के दौरान अलावा मतुआ समुदाय के अपने सांसद शांतनु ठाकुर के भाई सुब्रत ठाकुर को गायघाट विधानसभा सीट से टिकट दिया है। पूर्व मुख्य आर्थिक सलाहकार अशोक लाहिड़ी को बालुरघाट से प्रत्याशी घोषित किया गया है। लाहिड़ी को पहले उत्तर बंगाल की अलीपुरद्वार सीट से चुनाव लड़वाने का फैसला किया गया था लेकिन पार्टी कार्यकर्ताओं के विरोध के चलते अब उन्हें बालुरघाट से उम्मीदवार बनाया गया है।

अलीपुरद्वार, काशीपुर-बेलगछिया प्रत्‍याशी पीछे हटे
बीजेपी ने अलीपुरद्वार से स्थानीय नेता सुमन कांजीलाल को पिछले सप्ताह प्रत्याशी घोषित किया था। चौरंगी और काशीपुर-बेलगछिया सीटों पर प्रत्याशियों के चुनाव लड़ने से इनकार करने के बाद पार्टी ने नए उम्मीदवारों की घोषणा की है।

शिखा मित्रा को दिया गया टिकट
चौरंगी से शिखा मित्रा को टिकट दिया गया था जो पूर्व कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष सोमेन मित्रा की पत्नी हैं। इसके साथ ही तृणमूल विधायक माला साहा के पति तरुण साहा को काशीपुर-बेलगछिया से उम्मीदवार बनाया गया था। बीजेपी के लिए असमंजस की स्थिति तब उत्पन्न हो गई थी जब मित्रा और साहा ने चुनाव लड़ने से मना कर दिया और कहा कि वह पार्टी में शामिल नहीं हुए थे। पार्टी ने हाल ही में बीजेपी में शामिल हुए विश्वजीत दास को बागड़ा विधानसभा सीट से उम्मीदवार बनाया है। तृणमूल कांग्रेस की ओर से उन्होंने बोंगाव (उत्तर) विधानसभा सीट का प्रतिनिधित्व किया था और पिछले दिनों बीजेपी में शामिल हुए। पार्टी के कई पुराने नेता उम्मीदवारों की सूची में अपना नाम न पा कर नाराजगी जाहिर कर रहे हैं ।