तू महाराष्ट्र में कैसे घूमती है, मैं देखता हूं…. वझे केस संसद में उठाने पर सांसद नवनीत को शिवसेना से धमकी!

0
16

नई दिल्ली
देश के सबसे बड़े उद्योगपति मुकेश अंबानी के घर के बाहर मिले विस्फोटक मामले में महाराष्ट्र में सियासत पूरी तरह से गरमाई हुई है। पूर्व पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह की चिट्ठी से गृहमंत्री अनिल देशमुख भी सवालों के घेरे में है। इसी बीच महाराष्ट्र की अमरावती लोकसभा सीट से निर्दलीय सांसद ने लोकसभा स्पीकर को चिट्ठी लिख शिवसेना सांसद अरविंद सावंत पर गंभीर आरोप लगाए हैं।

सांसद ने लिखी चिट्ठीसांसद नवनीत रवि राणा ने लोकसभा स्पीकर ओम बिरला को एक चिट्ठी लिखी है। इस चिट्ठी में नवनीत रवि राणा ने शिवसेना सांसद अरविंद सावंत पर उन्हें धमकी देने का आरोप लगाया है। उन्होंने लिखा है कि संसद के बाद जब वो बाहर निकल रहीं थीं तभी सांसद सावंत ने उनको धमकी दी। नवनीत राणा का कहना है कि संसद में उन्होंने ठाकरे सरकार पर सवाल उठाए थे, जिसके बाद अरविंद सावंत ने उन्हें जेल में डालने की धमकी दी है।

नवनीत ने लगाया शिवसेना सांसद पर आरोपसांसद नवनीत रवि राणा ने पत्र में लिखा है कि मनसुख हिरेन की हत्या और सचिन वाजे के मामले को लेकर जब उन्होंने संसद में ठाकरे सरकार के खिलाफ आवाज उठाई, तो संसद की लॉबी में ही शिवसेना सांसद अरविंद सावंत ने उन्हें जेल में डालने की धमकी दे दी। उनके मुताबिक शिवसेना सांसद ने उनसे कहा कि “तू महाराष्ट्र में कैसे घूमती है, मैं देखता हूं और तेरे को भी जेल में डालेंगे।” उन्होंने कहा कि आज जिस तरह से मुझे शिवसेना की तरफ से धमकी दी जा रही है यह सिर्फ मेरा अपमान नहीं है बल्कि पूरे देश की महिलाओं का अपमान है। इसलिए मैं अरविंद सावंत पर कड़ी से कड़ी पुलिस कार्रवाई की मांग करती हूं।

अरविंद सावंत ने आरोपों से किया किनाराइस बाबत जब शिवसेना सांसद अरविंद सावंत ने पूछा गया तो उन्होंने इन आरोपों को सिरे से नकार दिया है। सावंत ने कहा कि नवनीत कौर आते-जाते उनसे भैया-दादा कहकर ही बात करती हैं। एक महिला को धमकाना शिवसैनिक का धर्म नहीं है। हालांकि सावंत ने कहा कि उनका (नवनीत कौर) बात करने का तरीका अच्छा नहीं लगता। आप उनके वीडियो देख लीजिए. वो मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे जी का नाम लेंगी और उनकी बॉडी लैंग्वेज तिरस्करणीय रहती है। वो तो पहले से ऐसी बातें करती आई हैं।

सावंत ने दी सफाई सावंत ने आगे कहा कि शून्यकाल में भाजपा के 6-6 सदस्य खड़े हो जाते हैं और हर एक को बोलने की अनुमति दी जाती है और हर एक वही विषय उठाता है। इसलिए ये भी खड़ी हो गईं और फिर हम लोग इनके खिलाफ वेल में जाकर चिल्ला रहे थे। इसके बाद जब शिवसेना सांसद से पूछा गया कि आपने लॉबी में उन्हें जेल में डालने की धमकी दी, तो इस पर उन्होंने कहा कि मैं ऐसा क्यों बोलूंगा? क्यों धमकाउंगा? ये अच्छी तरह से बात नहीं करती हैं।