मुंबई में 26/11 हमला… तब टीशर्ट, निकर में आतंकियों से लड़ने पहुंच गए थे नए कमिश्नर

0
82

सुनील मेहरोत्रा, मुंबई
हेमंत नागराले को मुंबई का नया पुलिस कमिश्नर बनाया गया है। सचिन वझे प्रकरण के बाद परमबीर सिंह की मुंबई सीपी की पोस्ट से छुट्टी कर दी गई है। हेमंत नागराले को तीन महीने पहले महाराष्ट्र का डीजीपी बनाया गया था। अब डीजीपी की पोस्ट पर रजनीश सेठ को कार्यभार दिया गया है।

घर से हॉफ पैंट में निकल पड़े थे
हेमंत नगराले ने महाराष्ट्र पुलिस में कई बड़े पदों पर काम किया है। उनकी नक्सली प्रभावित गढ़चिरौली में लंबे समय तक पोस्टिंग रही। 26/11 के हमले के दौरान वह मुंबई में थे। उनकी बहादुरी की उन दिनों काफी चर्चा हुई थी। हेमंत नगराले का तब कोलाबा पुलिस स्टेशन के ऊपर घर था, जहां से लियोपोल्ड कैफे महज कुछ मिनट दूर है। जब दो आतंकवादियों ने लियोपोल्ड के अंदर गोली चलाई, तो गढ़चिरौली में काम करने की बैकग्राउंड की वजह से नगराले समझ गए कि यह कोई सामान्य शूटआउट नहीं है। यह एके-47 से चल रही गोलियां हैं।

हेमंत नगराले उस वक्त घर में टी शर्ट और निकर पहने हुए थे और डिनर कर रहे थे। उन्होंने फौरन अपनी सर्विस रिवॉल्वर निकाली और उन्हीं कपड़ों में भागकर पैदल ही लियोपोल्ड पहुंचे। लेकिन तब तक लियोपोल्ड वाले आतंकवादी भी ताज होटल में भाग गए थे। नगराले फिर वहां से ताज होटल की ओर दौड़े । उन्होंने वहां बाहर से अंदर जा रहे लोगों को रोका और अंदर फंसे लोगों को बाहर निकालने में मदद की। उन्होंने उस रात मुंबई पुलिस और केंद्रीय सुरक्षा एजेंसियों के साथ को-ऑर्डिनेशन भी किया।

तेलगी कांड की जांच
तेलगी कांड की जांच के लिए आईपीएस अधिकारी एस. एस. पुरी के नेतृत्व में एक एसआईटी बनी थी। उस एसआईटी में सीआईएसएफ के डीजी सुबोध जायसवाल तो थे ही, हेमंत नगराले ने भी एस. एस. पुरी के स्टाफ ऑफिसर के तौर पर काम किया था। उस एसआईटी ने कॉन्स्टेबल से लेकर पुलिस कमिश्नर तक सभी रैंक के पुलिस कर्मियों को तेलगी कांड में अरेस्ट किया था। हेमंत नगराले ने सीबीआई में भी लंबे समय तक काम किया।