ओवैसी का योगी पर वार, बोले- यूपी में जितने एनकाउंटर हुए उनमें 37 फीसद मुसलमान

0
14

विशाल सिंह, बलरामपुर
बलरामपुर में असदुद्दीन ओवैसी ने भागीदारी संयुक्त मोर्चा के विशाल जनसभा को संबोधित करते हुए योगी सरकार पर जमकर निशाना साधा। ओवैशी ने मंच बोलते हुए कहा कि धज्जियां उडाने में योगी आदित्यनाथ ने कोई कसर नहीं छोडी है। योगी सिर्फ एक ही मजहब और जाति बिरादरी की बात करते है। ओवैशी योगी के सेकुलरिज्म के बयान पर भडके और कहा कि भारत को मुकाम दिलाने में सेकुलरिज्म ने रोका तो डीजल- पेट्रोल के दाम क्यों बढे।

‘हम बी टीम का हिस्सा नहीं ओवैसी’
ओवैसी ने यह भी कहा कि योगी की ठोक दो पालिसी के शिकार 37 फीसदी मुसलमान हुए हैं। यदि संविधान की धज्जियां उडाई जायेगी तो देश क्या होगा देश के लोकतंत्र का। ओवैसी ने आगे कहा कि उत्तर प्रदेश में फ्रीडम आफ एक्सप्रेशन नहीं है और मरते दम तक मैं मुल्क और मुल्क के संविधान को बचाने का प्रयास करूंगा क्योंकि हम बी टीम का हिस्सा नहीं है हम तख्त पर बैठा सकते है और तख्त पर लिटा भी सकते है। ओवैसी यंही रुके और कहा कि यूपी के सीएम को बहुत गुरुर है कि कयामत का दिन नहीं आयेगा। कयामत का दिन जरूर आयेगा, डर और खौफ का माहौल खत्म होगा और यूपी में दोबारा योगी सरकार नहीं बनेगी।

‘जितने एनकाउंटर किए हैं उनमें 37 प्रतिशत मुसलमान’
उत्तर प्रदेश सरकार ने प्रदेश में जितने एनकाउंटर किए हैं उनमें 37 प्रतिशत मुसलमान थे। यह बातें आई एम आई एम के राष्ट्रीय अध्यक्ष असुद्दीन ओवैसी ने उतरौला के बरदही चौराहे पर भागीदारी संयुक्त मोर्चा के विशाल जनसभा को संबोधित करते हुए कही। उन्होंने कहा कि मजहब के नाम पर कानून नही बन सकता। एनआरपीसी का विरोध मेरी पार्टी ने पूरे देश में किया था और मैंने संसद में इस कानून की प्रति फाड़कर विरोध दर्ज कराया था।‌ संविधान बचाने के लिए हमें जान की कुर्बानी करनी पडे तब भी हम पीछे नहीं हटेंगे। सांसद ओबैसी ने पेट्रोल, डीजल व रसोई गैस की बढ़ती कीमतों पर सरकार को घेरते हुए कहा कि इस मंहगाई से आम जनता भाजपा से परेशान हैं। उन्होंने सुहेलदेव समाज पार्टी के गठबंधन पर कहा कि इससे हमारी पार्टी मजबूत होगी।

ओमप्रकाश राजभर व अब्दुल मन्नान भी जनसभा में पहुंचे
सुहेलदेव समाज पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष व पूर्व मंत्री ओम प्रकाश राजभर ने कहा कि मैंने मोदी सरकार को 29 जातियों को आरक्षण देने का मामला उठाया था लेकिन मोदी सरकार ने उन्हें आरक्षण नहीं दिया। इससे मैंने भाजपा से इस्तीफा दिया। उसके बाद मैंने नौ पार्टियों को इकट्ठा कर भागीदारी संयुक्त मोर्चा के नाम से नई पार्टी बनाया। राजभर ने कहा कि मुसलमान व‌ राजभर जाति के लोग जुटकर भागीदारी संयुक्त पार्टी को वोट देते हैं तब उनकी पार्टी को कोई हरा नहीं सकता है। बीएसपी व एसपी व कांग्रेस की नीतियों की आलोचना करते हुए कहा कि वह जातियों के आधार पर उन्हें फुसलाकर वोट ले लेती है, लेकिन उनके हित का कोई काम नहीं करती है।