वसीम रिजवी पर फूटा शिया समुदाय का गुस्सा, पैरों तले रौंदा पोस्टर, देखें वीडियो

0
86

असगर, सुलतानपुर
शिया वक्फ बोर्ड के पूर्व चेयरमैन वसीम रिजवी के विरूद्ध अब उनका ही समुदाय बायकॉट पर उतर आया है। आलम ये है कि, हाल में वसीम रिजवी द्वारा पवित्र कुरआन की 26 आयतों के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में दायर की गई रिट के कृत्य के विरूद्ध शिया समुदाय ने उनकी फोटो लगे फ्लैक्स को रौंद कर अपना आक्रोश जाहिर करना शुरू कर दिया है।

शियाने हैदर-ए कर्रार वेलफेयर एसोसिशन ने बायकॉट का किया लोगों से अपील शनिवार को सुलतानपुर में जुलूसे सफर मदीना का आयोजन किया गया। हजरत इमाम हुसैन की याद में निकाला गया ये जुलूस शहर के अमहट स्थित शिया जामा मस्जिद से निकला। उक्त जुलूस शहर के गभड़िया स्थित हजरत अब्बास दरगाह में जुलूस का समापन हुआ।

पैरों तले कुचला गया वसीम रिजवी का पोस्टर
शियाने हैदर-ए कर्रार वेलफेयर एसोसिशन की ओर से वसीम रिजवी की फोटो लगा एक फ्लैक्स दरगाह के मुख्य द्वार पर बिछाया गया। जिस पर वहां से गुजरने वाले औरत, मर्द और बच्चों ने उसे पैरों तले कुचला। बैनर पर वसीम रिजवी को मौजूदा दौर का यजीद बताया गया। साथ ही साथ समूचे शिया समुदाय में वसीम के बायकॉट का भी आह्वान किया गया। बोले मौलाना; जेल से बचने के लिए वसीम नें खरीदा जहन्नम (नरक) वहीं, दरगाह पर आयोजित मजलिस को अंबेडकर नगर से आए मौलाना शारिब अब्बास ने संबोधित किया।

‘वसीम रिजवी ने जेल से बचने के लिए जहन्नम खरीद लिया’
मौलाना नें कहा कि, “शिया वक्फ बोर्ड के पूर्व चेयरमैन वसीम रिजवी ने जेल से बचने के लिए जहन्नम (नरक) खरीद लिया।” ‘मौलाना ने आगे कहा कि, ये बात तो तय हो गई कि वसीम ने कुरआन की आयतों के खिलाफ रिट करके दायरे इस्लाम और दायरे शीयत से बाहर हो गया।’ उन्होंने ये भी कहा की कुछ वर्षों पूर्व तसलीमा नसरीन रहीं हों या आज वसीम दोनों वाजिबुल कत्ल हैं।