लालू की सुरक्षा में लगे जवानों ने रिम्स का गद्दा, तकिया ही हड़प लिया? क्या है पूरा मामला

0
32

रांची
लालू यादव की सुरक्षा में लगे दो हवलदार और आठ कॉन्स्टेबल ने गद्दा-तकिया नहीं लौटाया है। रिम्स का 10 गद्दा, तकिया और तकिया का कवर नहीं लौटाए जाने से प्रबंधन पर आर्थिक बोझ बढ़ गया है। रिम्स प्रबंधन ने इस बाबत रांची पुलिस को चिट्ठी लिखी है।

रिम्स का तकिया-गद्दा लेकर चले गए जवान
चारा घोटाले में सजायाफ्ता लालू यादव रिम्स के बाद दिल्ली एम्स में इलाज करा रहे हैं। रिम्स में जब लालू यादव नहीं है तो उनकी सुरक्षा में तैनात जवान भी नहीं है। रिम्स प्रबंधन ने लालू यादव के जाने के बाद तकिया और गद्दे का हिसाब-किताब करना शुरू किया। 10 तकिया और गद्दा कम निकला। दरअसल लालू प्रसाद यादव की सुरक्षा में लगे दो हवलदार और आठ आरक्षी पुलिसकर्मियों ने रिम्स प्रबंधन द्वारा मुहैया कराए गए 10 गद्दा, तकिया और तकिया के कवर अब तक नहीं लौटाए।

गद्दा और तकिये वाली रिम्स की चिट्ठी में क्या है?
रिम्स प्रबंधन ने रांची एसएसपी को पत्र लिखा है और उन गद्दों को लौटाने की गुहार लगाई है। पत्र मिलने के बाद रांची एसएसपी ने जवानों से जवाब-तलब किया है। रिम्स प्रबंधन का कहना है कि इस कारण रिम्स पर आर्थिक बोझ बढ़ गया है। पुलिस के वरीय पदाधिकारियों को चिट्ठी लिखकर अपनी पीड़ा व्यक्त की है। चिट्ठी में लिखा गया है कि उच्च श्रेणी के कैदी लालू प्रसाद यादव जब केली बंगले में थे, तब उनकी सुरक्षा में 10 सुरक्षाकर्मी लगाए गए थे। गद्दा और तकिये का आवंटन किया गया था लेकिन अब वह नहीं लौटा रहे हैं।

24 घंटे में तकिया और गद्दे को लौटाने के आदेश
चिट्ठी मिलने पर रांची एसएसपी ने गद्दा हड़पने वाले पुलिसकर्मियों को गद्दा लौटाने के लिए 24 घंटे का अल्टीमेटम दिया है। वहीं, ऐसा क्यों हुआ उसके लिए जवाब-तलब किया गया है। जिन पुलिसकर्मियों से स्पष्टीकरण मांगा गया है, उनमें हवलदार गगन पासवान, गगन देव राम, आरक्षी मनोज कुमार सिंह, लुइस खालखो, जकुब मुर्मू, गोडविन इक्का, देवदीप पल गड़ेरी, रंजीत मुंडा और सुजीत उरांव शामिल हैं।