सुबह न राज्यसभा चली ना शाम में लोकसभा, हंगामे कारण स्थगित करनी पड़ी कार्यवाही

0
21

नई दिल्ली
बजट सत्र के दूसरे चरण की शुरुआत सोमवार को अनुमान के मुताबिक हंगामेदार रही। विपक्षी दलों ने पहले दिन संसद में पेट्रोल-डीजल की महंगाई का मुद्दा काफी जोर-शोर से उठाया। इस कारण उच्च सदन राज्य सभा की कार्यवाही दिनभर के लिए स्थगित करनी पड़ी। दूसरी तरफ, लोकसभा में दिवंगत सदस्यों मोहन एस डेलकर और नंदकुमार सिंह चौहान तथा सात पूर्व सदस्यों को श्रद्धांजलि देने के बाद निचले सदन की बैठक शाम पांच बजे तक के लिए स्थगित कर दी गई। बाद में तेल की बढ़ती कीमतों को लेकर हंगामे के कारण इसे पहले शाम 7 बजे फिर कल दोपहर 11 बजे तक स्थगित कर दिया गया। राज्यसभा में नेता प्रतिपक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे ने यह भी कहा कि कांग्रेस महंगाई के मुद्दे पर संसद में चर्चा के लिए सरकार पर दबाव बनाती रहेगी।

पहले 11 बजे तक फिर पूरे दिन के लिए स्थगित
कांग्रेस सांसद ने प्रश्नकाल के दौरान पेट्रोल-डीजल की महंगाई मुद्दा उठाया। सभापति एम. वेंकैया नायडू से इसपर चर्चा के लिए शून्यकाल की कार्यवाही टालने की मांग की। इस दौरान सदन में हंगामा भी होता रहा। नारेबाजी के बीच सभापति ने सदन की कार्यवाही पहले 11 बजे तक स्थगित कर दी। सदन की कार्यवाही दुबारा शुरू हुई तो विपक्षी सांसद फिर से हंगामा करने लगे जिससे उप-सभापति हरिवंश को दूसरी बार कार्यवाही 1 बजे तक स्थगित करने का फैसला करना पड़ा। हालांकि, 1 बजे फिर से शुरू ही कार्यवाही चल नहीं पाई और हंगामे के कारण इसे दिनभर के लिए स्थगित करना पड़ा।

लोकसभा में दिवगंत सदस्यों को श्रद्धांजलि
लोकसभा के दिवंगत सदस्यों मोहन एस डेलकर और नंदकुमार सिंह चौहान तथा सात पूर्व सदस्यों को श्रद्धांजलि देने के बाद सोमवार को निचले सदन की बैठक शाम पांच बजे तक के लिए स्थगित कर दी गई। कांग्रेस ने सोमवार को आरोप लगाया कि केंद्र सरकार पेट्रोल, डीजल और रसोई गैस की कीमतों में बढ़ोतरी के मुद्दे पर संसद में चर्चा करने के लिए तैयार नहीं है।

नियम 267 के तहत नोटिस देकर महंगाई पर चर्चा की मांग
खड़गे ने संसद भवन के बाहर कहा, ‘‘राज्यसभा में हमने नियम 267 के तहत नोटिस देकर कहा था कि देश में पेट्रोल, डीजल और रसोई गैस की कीमतें दिन-प्रतिदिन बढ़ रही हैं और इससे आम लोगों को बहुत परेशानी हो रही है, ऐसे में इस पर चर्चा हो।’’ कांग्रेस सांसद दीपेंद्र हुड्डा ने कहा, ‘‘महंगाई के कारण किसानों को भी गहरी चोट लगी है। किसानों की आय दोगुनी करने का वादा किया गया था, लेकिन डीजल के दाम लगातार बढ़ाए जा रहे हैं।’’ उन्होंने दावा किया कि आंदोलन कर रहे किसानों के बारे में इस सरकार ने एक शब्द नहीं बोला है। हुड्डा ने आरोप लगाया कि सरकार को किसानों की चिंता नहीं है जिससे किसानों में बहुत आक्रोश है।

कल से सामान्य रूप से चलेगी सदन की कार्यवाही
राज्यसभा की बैठक मंगलवार से अपने सामान्य समय पर पूर्वाह्न 11 बजे शुरू होगी और शाम छह बजे तक चलेगी। पीठासीन अध्यक्ष वंदना चव्हाण ने सोमवार को राज्यसभा में घोषणा की कि उन्हें सदन को यह सूचित करते हुए प्रसन्नता हो रही है कि कल से सदन की बैठक पूर्वाह्न 11 बजे से शाम छह बजे तक चलेगी। उन्होंने कहा कि सभापति एम वेंकैया नायडू ने विभिन्न दलों के सदस्यों की मांग को देखते हुए सदन की बैठक के समय में परिवर्तन के लिए अनुमति दे दी है। उन्होंने यह भी कहा कि कल से सदन के सदस्य राज्यसभा कक्ष और गैलरी में दूरी बनाते हुए बैठेंगे।