इंटरनेशनल वुमन डे: राष्ट्रपति बोले- महिलाओं को सामाजिक और आर्थिक तौर पर और मजबूत बनाने की गुंजाइश बाकी

0
54

नई दिल्ली
राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने रविवार को कहा कि देश में महिलाओं की सामाजिक-आर्थिक स्थिति को और बेहतर बनाने के लिए बहुत कुछ किया जाना बाकी है। की पूर्व संध्या पर राष्ट्रपति ने कहा, ‘‘हम सभी को महिलाओं की सुरक्षा, शिक्षा और स्वतंत्रता के लिए लगातार काम करना होगा क्योंकि केवल ऐसा करने से ही हम महिलाओं, विशेषकर हमारी बेटियों को अधिक सक्रिय, सक्षम और सशक्त बनने का मार्ग प्रशस्त कर पाएंगे।’’

कोविंद ने कहा, ‘‘अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर, मैं सभी महिलाओं को हार्दिक बधाई और शुभकामनाएं देता हूं।’’अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस हर वर्ष आठ मार्च को मनाया जाता है। राष्ट्रपति ने कहा, ‘‘महिलाएं हमारे परिवार, समाज और राष्ट्र के लिए एक प्रेरणा हैं। वे सामाजिक संरचना का अनिवार्य आधार हैं।’’

कोविंद ने कहा कि भारत में भी, महिलाओं ने जीवन के हर क्षेत्र में अपनी अलग पहचान बनाई है। उन्होंने कहा कि जीवन के सभी क्षेत्रों में विशिष्ट भूमिका के साथ, उन्होंने राष्ट्र की प्रगति में महत्वपूर्ण योगदान दिया है। उन्होंने कहा, ‘‘हालांकि, भारत में महिलाओं की सामाजिक-आर्थिक स्थिति को और बेहतर बनाने के लिए बहुत कुछ किया जाना बाकी है। हम सभी को महिलाओं की सुरक्षा, शिक्षा और स्वतंत्रता के लिए लगातार प्रयास करने होंगे क्योंकि ऐसा करने से ही हम महिलाओं, विशेषकर हमारी बेटियों, को अधिक सक्रिय, सक्षम और सशक्त बनने का मार्ग प्रशस्त कर पाएंगे।’’