ओटीटी प्लेटफार्म पोर्नोग्राफी तक दिखा रहे हैं, इनके कंटेंट की स्क्रीनिंग जरूरी: सुप्रीम कोर्ट

0
15

नई दिल्ली
सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि ओटीटी कंटेप्ट के स्क्रीनिंग की जरूरत है। सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि कुछ ओटीटी प्लेटफर्म तो पोर्नोग्राफी तक दिखा रहे हैं ऐसे में इसके कंटेप्ट पर नजर रखने के लिए स्क्रीनिंग की आवश्यकता है। सुप्रीम कोर्ट ने सॉलिसिटर जनरल से कहा है कि वह नई आईटी रूल्स 2021 को सुप्रीम कोर्ट के सामने पेश करें। आगे की सुनवाई शुक्रवार को होगी।

तांडव वेबसीरिज मामले में एफआईआर दर्जअमेजन प्राइम की इंडिया हेड अपर्णा पुरोहित की अग्रिम जमानत की अर्जी पर सुनवाई के दौरान सुप्रीम कोर्ट ने उक्त टिप्फणी की। सुप्रीम कोर्ट में अपर्णा पुरोहित ने इलाहाबाद हाई कोर्ट के फैसले को चुनौती दी है। हाई कोर्ट ने पुरोहित को अग्रिम जमानत देने से इनकार कर दिया था जिसके बाद उन्होंने सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया है। पुरोहित के खिलाफ तांडव वेबसीरिज मामले में एफआईआर दर्ज की गई है इसी मामले में उन्होंने गिरफ्तारी से प्रोटेक्शन की मांग की है।

सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई में क्या-क्या हुआअपर्णा पुरोहित की ओर से पेश सीनियर एडवोकेट मुकुल रोहतगी: याचिकाकर्ता अपर्णा पुरोहित अमेजन प्राइम में काम करती हैं वह वहां की एंप्लाई हैं लेकिन उन्हें इस मामले में आश्चर्यजनक तरीके से आरोपी बना दिया गया है। जबकि मामले में एक्टर और प्रोड्यूशन पर केस दर्ज हुआ है और कंपनी पर भी केस दर्ज नहीं किया गया है लेकिन याची को आरोपी बना दिया गया। ये सब कुछ लोगों ने पब्लिसिटी के लिए किया है और देश भर में केस दर्ज करा दिया है। वेबसीरिज के कंटेंट देखने के लिए पेमेंट करना होता है। अगर कोई देखना चाहता है तो उसे पेमेंट करना होता है।

सुप्रीम कोर्ट: परंपरागत फिल्म प्राय: लुप्त सा हो गया है। लोग इंटरनेट पर फिल्म देख रहे हैं। हमारा सवाल है कि क्या इस तरह से इसे दिखाया जाना चाहिेए।

सीनियर एडवोकेट सिद्धार्थ लूथरा: केंद्र सरकार ने हाल ही में आईटी रूल्स 2021 नोटिफाई किा है जिसके तहत ओटीटी प्लेटफर्म के कंटेंट को रेग्युलेट करना है और इसके लिए बोर्ड का गठन होगा।
सुप्रीम कोर्ट: हम सॉलिसिटर जररल तुषार मेहता से कहते हैं कि आप आईटी रूल्स 2021 पेश करें और रेकॉर्ड पर उसे लाएं और उसे सर्कुलेट करें। हमारा मत है कि ओटीटी प्लेटफर्म के कंटेंट पर नजर रखना जरूरी है। इस मामले में बैलेंस जरूरी है क्योंकि कुछ प्लेटफर्म तो पोर्नोग्राफी भी दिखा रहे हैं। ऐसे में स्क्रीनिंग जरूरी है। हम आगे की सुनवाई शुक्रवार को करेंगे।

क्या है पूरा मामला………….अमेजन प्राइम विडियो की इंडिया हेड अपर्णा पुरोहित ने इलाहाबाद हाई कोर्ट के उस फैसले को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी है जिसमें हाई कोर्ट ने वेब सीरिज तांडव मामले में दर्ज केस में अग्रिम जमानत देने से इनकार कर दिया है। सुप्रीम कोर्ट के जस्टिस अशोक भूषण की अगुवाई वाली बेंच अब शुक्रवार को सुनवाई करेगा। पुलिस ने पुरोहित के खिलाफ केस दर्ज किया है। उन पर हिंदू देवी देवताओं की छवि खराब करने का आरोप है। साथ ही आरोप लगाया गया है कि पीएम के किरदार को प्रतिकूल तरीके से दिखाया गया है।

6 राज्यों ने दर्ज किया मामला25 फरवरी को इलाहाबाद हाई कोर्ट ने इस मामले में अग्रिम जमानत देने से इनकार कर दिया था जिसके बाद मामला सुप्रीम कोर्ट आया है।इससे पहले सुप्रीम कोर्ट ने तांडव वेब सीरिज के डायरेक्टर और अन्य की उस याचिका पर राहत देने से मना कर दिया था जिसमें उन्होंने सुप्रीम कोर्ट से अंतरिम प्रोटेक्शन की मांग की थी। याचिका में गिरफ्तारी से प्रोटेक्शन की मांग के साथ-साथ एफआईआर खारिज करने और तमाम केस एक जगह क्लब करने की गुहार लगाई गई है। इनके खिलाफ धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाने का केस छह राज्यों की पुलिस ने दर्ज कर रखा है।