बंगाल में अपने मुखिया को ही क्यों चुनाव नहीं लड़वाना चाहती बीजेपी, जानें क्या चल रही चर्चा

0
21

कोलकाता () को लेकर भारतीय जनता पार्टी उम्‍मीदवारों के नाम फाइनल करने में जुटी हुई है। जल्‍द ही प्रत्‍याशियों की लिस्‍ट सामने आ सकती है। इस बीच चर्चा है कि पश्चिम बंगाल बीजेपी के अध्‍यक्ष दिलीप घोष चुनाव नहीं लड़ेंगे। हालांकि बाद में उन्‍हें उपचुनाव में खड़ा किया जा सकता है। सीएनएन न्‍यूज 18 चैनल ने गुरुवार को अपने सूत्रों के हवाले से यह खबर दी है।

मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो बीजेपी का शीर्ष नेतृत्‍व चाहता है कि दिलीप घोष चुनावों के दौरान प्रचार अभियान से लेकर अन्‍य जरूरी जिम्‍मेदारियां निभाएं, इसलिए हो सकता है कि उन्‍हें अभी चुनाव न लड़वाया जाए। दरअसल, गुरुवार को दिल्‍ली में पश्चिम बंगाल के नेताओं की केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह और बीजेपी अध्‍यक्ष जेपी नड्डा के साथ बैठक हुई है।

दो चरणों में 60 सीटों पर पड़ेंगे वोट
इस बैठक में बीजेपी के राष्‍ट्र्रीय उपाध्यक्ष मुकुल रॉय, राष्ट्रीय महासचिव और राज्य प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय, सह-प्रभारी अरविंद मेनन, राज्य इकाई के अध्यक्ष दिलीप घोष, और मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के पूर्व करीबी सहयोगी सुवेन्दु अधकारी भी शामिल हुए। बताया जा रहा है कि जल्‍द ही बीजेपी बंगाल चुनावों के लिए 60 उम्‍मीदवारों की पहली लिस्‍ट जारी कर सकती है। 27 मार्च और 1 अप्रैल को 60 विधानसभा सीटों पर चुनाव होने जा रहे हैं।