कर्नाटक के मंत्री बीसी पाटिल ने घर पर लगवाया कोरोना टीका, तस्‍वीर सामने आते ही शुरू हुआ विवाद

0
27

हावेरी (कर्नाटक)
पूरे देश में एक मार्च से 60 साल से ऊपर वालों के लिए कोरोना वैक्‍सीनेशन अभियान चल रहा है। सोमवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी समेत कई केंद्रीय मंत्रियों ने टीका लगवाया। पीएम ने जहां एम्‍स में जाकर वैक्‍सीन लगवाया वहीं, केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने मेदांता हॉस्पिटल में टीका लगवाया। इस बीच, कर्नाटक में बीजेपी के एक मंत्री की तरफ से अपने घर में स्‍वास्‍थ्‍यकर्मियों को बुलवाकर टीका लगाने के मामले पर विवाद शुरू हो गया है। बता दें कि स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय पहले ही कह चुका है कि कोरोना टीका को घर पर नहीं लगवा सकते।

इस बीच, केंद्रीय स्‍वास्‍थ्य सचिव राजेश भूषण ने कहा है कि दिशानिर्देशों (प्रोटोकॉल) के तहत इसकी अनुमति नहीं है। यह हमारे संज्ञान में आया है और हमने इस संबंध में राज्य सरकार से रिपोर्ट मांगी है।

सोशल मीडिया पर सवाल उठा रहे लोग
जानकारी के मुताबिक, कर्नाटक सरकार में मंत्री बीसी पाटिल ने मंगलवार को हावेरी जिले में हीरेकुरुर स्थित अपने घर पर स्‍वास्‍थ्‍यकर्मियों को बुलाकर टीका लगवाया। मंत्री के घर पर वैक्‍सीन लगवाने की तस्‍वीरें सामने आईं तो विवाद शुरू हो गया। सोशल मीडिया पर लोग सवाल उठा रहे हैं कि आखिर एक मंत्री कैसे अपनी ताकत का गलत इस्‍तेमाल कर सकता है। बताया जा रहा है कि मंत्री की पत्‍नी ने भी घर पर टीका लगवाया है।

मंत्री ने दी सफाई-‘मेरी वजह से लोगों को होती दिक्‍कत’
दूसरी ओर, मंत्री बीके पाटिल ने इस पूरे विवाद पर अपनी सफाई पेश की है। उन्‍होंने कहा कि अगर वह अस्‍पताल में टीका लगवाने जाते तो उनकी वजह से आम लोगों को काफी इंतजार करना पड़ता। इसलिए उन्‍होंने घर पर ही वैक्‍सीन लगवाना उचित समझा। इसमें गलत क्‍या है? उन्‍होंने कहा कि इस मामले को गलत तरीके से नहीं लेना चाहिए।