अजमल के साथ बैठने वाले असम में रोकेंगे घुसपैठ? राहुल पर शाह का निशाना

0
57

गुवाहाटी
असम पहुंचे अमित शाह ने कांग्रेस पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने असम और राज्य के लिए बीजेपी सरकार के किए गए कामों को गिनाया। गृह मंत्री ने कांग्रेस का नाम लिए बिना कहा कि जो लोग अजमल के साथ बैठे हैं वह घुसपैठ नहीं रोक सकते। गैंडों को नहीं बचा सकते। वे बदरुद्दीन अजमल के साथ असम आते हैं जिसकी भाषा आपने सुनी है।

राहुल गांधी का बिना नाम लिए अमित शाह ने कहा कि पहले दिल्ली के गलियों में घूमते हैं मौज करते हैं। जब चुनाव आता है तो आ जाते हैं वोट मांगने। असम आंदोलन के वक्त युवाओं पर गोली चलवाई। अब वोट मांगने के लिए वेश बदलकर आ रहे हैं। कुछ वोट कटवा आकर बीजेपी के वोट काटकर कांग्रेस की मदद करना चाहते हैं। असम की जनता सब समझती है। वह मूर्ख नहीं बनेगी। असम की जनता जानती है कि बीजेपी ही विकसित, शांत और घुसपैठियों से मुक्त राज्य बना सकते हैं।

‘कुर्सी के लालच में करते हैं कौमवादी बातें’
अमित शाह ने कहा कि आज जिनकी भाषा बदली है उनसे पूछता हूं कि असम के गौरव की बात करते हैं। घुसपैठिए असम के गौरव गेडों का शिकार करते थे लेकिन कभी कुछ नहीं किया। क्योंकि उन्हें वोटबैंक का लालच था। अजमल के साथ बैठकर घुसपैठ नहीं रोक सकते। अजमल बदरुद्दीन के साथ असम की सुरक्षा की बात करते हैं…।

असम को बाढ़ मुक्त बनाने पर हो रहा काम
नगांव पहुंचे अमित शाह ने मंच से ऐलान किया कि असम को बाढ़मुक्त करेंगे। हर साल लाखों-करोड़ों लोग प्रभावित होते हैं। प्लान तैयार हो गया है। चार वर्षों से सेटेलाइट से बारिश के मौसम में सर्वेक्षण किया गया है। अगले पांच साल में असम बाढ़ मुक्त कर दिया जाएगा। ऐसे स्थान ढूंढे गए हैं जहां बड़े-बड़े तालाक बनाकर पानी को डायवर्ट करके असम को बाढ़ मुक्त किया जाएगा।

‘असम से राज्यसभा सदस्य बने, फिर भी मनमोहन ने नहीं किया कुछ काम’
गृहमंत्री ने कहा कि खुला चैलेंज देता हूं 15 साल तक कांग्रेस की सरकार रही लेकिन उन्होंने असम के लिए कुछ नहीं किया। मनमोहन सिंह यहां से राज्यसभा सदस्य बनकर गए थे। पंद्रह सालों का हिसाब दे दें। उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने 70 साल में जितना विकास नहीं किया उतना हम सात साल में करके दिखा देंगे।

‘विकास के मार्ग पर बढ़ रहा असम’
अमित शाह ने कहा कि प्रदर्शनों, हिंसा के लिए पहचाना जाने वाला असम हिंसा, बाढ़ एवं घुसपैठ से मुक्त होकर विकास के मार्ग पर बढ़ रहा है। असम में भाजपा की यात्रा तभी पूरी होगी जब वह पूर्वोत्तर के अन्य राज्यों के साथ जीडीपी में सर्वाधिक योगदान देने वाला राज्य बनकर उभरेगा।

‘मोदी ने असम की प्रतिष्ठा के लिए सबकुछ किया’
शाह ने कहा कि पीएम मोदी के नेतृत्व में, असम में ही नहीं, पूरे उत्तर-पूर्व में एक नया विकास शुरू हुआ। एक समय था जब असम आंदोलन और हिंसा के लिए जाना जाता था। पीएम मोदी ने असम में प्रतिष्ठा लाने के लिए सब कुछ किया। भूपेन हजारिका को भारत रत्न से सम्मानित किया गया। कांग्रेस नेता तरुण गोगोई ने भी महान योगदान दिया था। उन्हें पीएम नरेंद्र मोदी के शासन में पद्म भूषण दिया गया।