LAC पर तनाव खत्म होने पर बोले सेना प्रमुख नरवणे- दोनों देशों के लिए जीत की स्थिति, 10 दौर की बातचीत से आया बेहतर रिजल्ट

0
45

नई दिल्ली
चीन के साथ पूर्वी लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) पर तनाव कम होने और पैंगोग त्सो के उत्तर और दक्षिण के किनारों से भारत और चीन की सेनाओं के पीछे हटने को लेकर (MM Naravane) ने बुधवार को कहा कि मुझे लगता है कि यह बहुत अच्छा परिणाम रहा, यह सभी के लिए लाभकारी है। दोनों देशों के लिए जीत की स्थिति है। अब तक हुई 10 दौर की वार्ता से बेहतर परिणाम आया है। उन्होंने जोर देकर कहा कि पूर्वी लद्दाख में अन्य मुद्दों को भी हल करने के लिए रणनीतियां हैं।

सेना प्रमुख नरवणे ने कहा कि चीन के साथ भारत का रिश्ता वैसा ही होगा, जैसा हम चाहेंगे। मुझे लगता है कि यह पूरी तरह से सरकार की सोच है कि चीन के साथ हमारा रिश्ता उसी तरीके से विकसित होगा, जैसे हमारी इच्छा उसे विकसित करने की होगी।

सीमा पर कोई नहीं चाहता अस्थिरता
सेना प्रमुख ने कहा कि एक पड़ोसी के तौर पर हम चाहेंगे कि सीमा पर शांति और स्थिरता रहे और कोई नहीं चाहता कि सीमा पर किसी तरह की अस्थिरता रहे।

लद्दाख गतिरोध पर चीन और पाक के बीच सांठ-गांठ के संकेत नहीं
सेना प्रमुख जनरल एमएम नरवणे ने कहा कि लद्दाख गतिरोध के दौरान चीन और पाकिस्तान के बीच सांठ-गांठ के कोई संकेत नहीं थे, लेकिन भारत एक दो नहीं, बल्कि ढाई मोर्चे की लड़ाई के लिए लंबे समय की रणनीति बनाता है। आधे मोर्चे के साथ वह आंतरिक सुरक्षा का जिक्र कर रहे थे।

सभी पक्षों ने साथ मिलकर किया काम
सेना प्रमुख ने कहा कि गतिरोध की शुरुआत से ही सही, भारतीय पक्ष के सभी पक्षों ने एक साथ काम किया। उन्होंने कहा कि राजनीतिक स्तर पर रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और विदेश मंत्री एस जयशंकर ने अपने चीनी समकक्षों से बात की।

वेबिनार में बोले सेना प्रमुख
सेना प्रमुख जनरल एमएम नरवणे ने विवेकानंद इंटरनेशनल फाउंडेशन की ओर से आयोजित एक वेबिनार में कहा कि हम सभी इसमें एक साथ थे। हमने अपनी योजना को चाक-चौबंद कर दिया था, जिस पर हमने चर्चा की थी कि आगे का रास्ता क्या होना चाहिए। जो कुछ भी हुआ है, उसी के परिणामस्वरूप हुआ है। हमने अब तक जो हासिल किया है वह बहुत अच्छा है।

सेना के प्रमुख ने कहा कि राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार ने जो सलाह दी थी, वह भी बेहद उपयोगी थी और रणनीतिक स्तर के मामलों में उनके नजरिये ने निश्चित रूप से प्रतिक्रिया को आगे बढ़ाने में हमारी मदद की।