खेत में खिलाई नमकीन, फिर दे दिया वो जहर वाला पानी लेकिन…. उन्नाव कांड में चौंकाने वाले खुलासे

0
11

उन्नाव
यूपी के उन्नाव में हुए दो लड़कियों की मौत के बाद इस मामले के मुख्य आरोपी को उसके साथी समेत गिरफ्तार किया गया है। गिरफ्तार युवक का नाम विनय है और उसने पुलिस से पूछताछ में चौंकाने वाले खुलासे किए हैं। विनय ने पूछताछ में कहा है कि जिन तीन लड़कियों को बेहोशी की हालत में पाया गया था, उनमें से एक से वह प्रेम करता था। इस लड़की से उसे लॉकडाउन के दौरान मोहब्बत हुई थी, लेकिन जब लड़की ने उसका प्रस्ताव स्वीकार नहीं किया तो उसने उसके पानी में कीटनाशक मिला दिया। इसे पीने के बाद ही तीनों लड़कियों की हालत बिगड़ गई और दो की मौत हो गई।

इससे उत्तर प्रदेश के उन्नाव () जिले के असोहा इलाके के बबुरहा गांव के बाहर बुधवार को संदिग्ध परिस्थितियों में मृत पाई गई दो किशोरियों की अंत्येष्टि शुक्रवार की सुबह कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच कर दी गई। इसके अलावा तीसरी किशोरी को कानपुर के अस्पताल में भर्ती कराया गया है। अंतिम संस्कार की कार्रवाई के बाद शुक्रवार शाम लखनऊ रेंज की आईजी लक्ष्मी सिंह ने उन्नाव कांड पर पत्रकारों को सारी जानकारी दी।

(Unnao Police) के अफसरों ने बताया कि इस मामले में दो युवकों को गिरफ्तार किया है। इनमें से एक का नाम विनय उर्फ लंबू है जबकि दूसरा नाबालिग है। आईजी रेंज लक्ष्मी सिंह ने शुक्रवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा कि मामला एकतरफा प्यार का है। लॉकडाउन के दौरान इसका पता चला था। मोबाइल नंबर न देने के चलते आरोपी विनय उर्फ लंबू ने पानी में जहरीला पदार्थ मिलाकर लड़की को पिला दिया।

जहरीला पानी दिया एक लड़की को था, तीनों ने पी लिया
आईजी लक्ष्मी सिंह ने बताया कि घटना से पहले सभी ने खेत में एकसाथ बैठकर नमकीन खाई। इसमें विनय, उसका साथी और यह तीन लड़कियां शामिल थीं। नमकीन खाने के बाद विनय ने प्रेम-प्रसंग में शामिल लड़की को पानी पीने के लिए दिया जिसे बाकी लड़कियों ने भी पी लिया। आईजी ने बताया कि विनय ने बाकी लड़कियों को पानी पीने से मना किया था, लेकिन दोनों ने जबरदस्ती पानी पी लिया। मुंह से झाग निकलने के बाद दोनों लड़के वहां से भाग गए।

किसी तरह के असॉल्ट के सबूत नहीं: IG
आईजी ने कहा कि पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में किसी भी तरह के रेप के सबूत नहीं मिले हैं। इसके अलावा आरोपी ने भी किसी भी तरह के रेप या मारपीट की बात से इनकार किया है। आईजी ने कहा कि परिवार ने जो शिकायत दी थी, मुकदमे को भी उसके ही आधार पर दर्ज किया गया था। इस मामले में अज्ञात अभियुक्त के खिलाफ केस दर्ज किया गया था। परिवार के बयान के आधार पर ही जांच को आगे भी बढ़ाया गया।

मोबाइल नंबर ना देने पर हुई नाराजगी
आईजी ने कहा कि विनय ने लड़की से मोबाइल नंबर मांगा था, लेकिन लड़की ने इससे इनकार कर दिया था। पुलिस ने कहा कि विनय के पूरे बयान पर जो तथ्य मिले हैं, उसकी पड़ताल की जा रही है। आईजी ने यह भी कहा कि जिस लड़की का अस्पताल में अभी इलाज कराया जा रहा है, उसी से विनय ने अपने एकतरफा प्यार की बात कही है।