बांग्‍लादेशी शरणार्थी परिवार के घर ई-रिक्‍शा से पहुंचे अमित शाह, जमीन पर बैठकर खाया खाना

0
18

कोलकाता () से पहले वोटरों में पैठ बनाने के लिए केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह बंगाल दौरे पर हैं। गुरुवार को उन्‍होंने दक्षिण 24 परगना जिले में बीजेपी की पांचवीं और अंतिम परिवर्तन यात्रा को हरी झंडा दिखाकर रवाना किया। इसके बाद शाह नारायणपुर में रहने वाले बांग्‍लादेशी शरणार्थी परिवार सु्ब्रत बिस्‍वास के घर पर दोपहर का भोजन करने पहुंचे। उनके साथ बीजेपी नेता मुकुल रॉय, कैलाश विजयवर्गीय और दिलीप घोष भी रहे। अमित शाह ई रिक्‍शा पर बैठकर शरणार्थी परिवार के घर खाना खाना पहुंचे तो उन्‍हें देखने के लिए भीड़ जुट गई। शाह ने सभी का अभिवादन स्‍वीकार किया।

सुब्रत बिस्‍वास के घर अमित शाह समेत सभी बीजेपी नेताओं ने जमीन पर बैठकर भोजन ग्रहण किया। बांग्‍लादेश से यहां आए इस परिवार के घर भोजन कर अमित शाह ने नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) को लेकर बड़ा संदेश दिया है। यहां से भोजन करने के बाद अमित शाह ने काकद्वीप में रोड शो भी निकाला। रोड शो में सैकड़ों की भीड़ उमड़ी। रोड शो में शामिल और सड़क किनारे खड़े समर्थकों ने इस दौरान लगातार जय श्रीराम और भारत माता की जय के नारे लगाए।

4 लाख मछुआरों को 6 हजार रुपये देने का किया वादा
रोड शो के बाद आयोजित एक सभा में अमित शाह ने मछुआरों के लिए कई वादें किए। उन्‍होंने कहा कि बंगाल में बीजेपी सरकार बनने के बाद लगभग 4 लाख मछुआरों को 6,000 रुपये मछुआरा सम्मान निधि दी जाएगी। शाह ने कहा कि हम गंगासागर को भी अंतरराष्ट्रीय पर्यटन सांस्कृतिक क्षेत्र के रूप में विकसित करने जा रहे हैं। महिला कार्ड खेलते हुए अमित शाह ने वादा किया कि बीजेपी सरकार बनने पर महिलाओं को सरकारी नौकरियों में 33 पर्सेंट आरक्षण दिया जाएगा।