उन्नाव की बेटियों को किसने दिया जहर? 24 घंटे बाद भी पता नहीं लगा सकी पुलिस

0
34

उन्नाव
उत्तर प्रदेश के उन्नाव जिले के असोहा थाना क्षेत्र के बबुरहा गांव में हुई वारदात के बाद प्रशासनिक अमले में हड़कंप मचा हुआ है। इस घटना को अब तकरीबन 24 घंटे बीत चुके हैं। मामले में अबतक उत्तर प्रदेश पुलिस इस बात का पता नहीं लगा सकी है कि इन लड़कियों को जहर किसने दिया। दरअसल, बबुरहा गांव में तीन लड़कियां चारा लेने गई हुई थीं। जब वे घर नहीं लौटीं तो परिवारवाले खेतों की तरफ पहुंचे। जहां ये लड़कियां तकरीबन साढ़े 6 बजे दुपट्टे से लिपटी हुई मिलीं। इन सभी के मुंह से झाग निकल रहा था। इन लड़कियों को आनन-फानन सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र ले जाया गया। यहां पर दो लड़कियों को मृत घोषित कर दिया गया। वहीं, शिवानी (बदला हुआ नाम) की गंभीर हालत को देखते हुए कानपुर के रीजेंसी अस्पताल में भर्ती कराया गया। यह बात भी सामने आई है कि मृत लड़कियों में से एक की मौत जहर की वजह से हुई है। लड़की विसरा सुरक्षित रख लिया गया है।

किशोरी काजल की मां बिटोला ने बताया कि उनकी बेटी बुधवार की शाम शिवानी (बदला हुआ नाम) और कोमल के साथ निकली थी। फिर लौट कर घर नहीं आई। पड़ोसियों ने बताया कि तीनों में गहरी दोस्ती थी और रोज एक साथ चारा लेने के लिए जाती थीं। मृत दोनों लड़कियों का पोस्टमॉर्टम हो चुका है। डॉक्टरों ने बताया है कि दोनों लड़कियों की मौत जहरीाला पदार्थ खाने से हुई है। दोनों ने लगभग 6 घंटे पहले खाना खाया था। इन दोनों के पेट में 80 ग्राम तक खाना मिला है। खाने में जहर होने की वजह से मौत हुई।

सरकार उठाएगी इलाज का खर्च
डीएम रवींद्र कुमार ने इस मामले में रीजेंसी अस्पताल को पत्र लिखकर बताया है कि शिवानी के इलाज का पूरा खर्च राज्य सरकार उठाएगी। इलाज का खर्च मुख्यमंत्री राहत कोष से दिया जाएगा।