कुल्हाड़ी से आठ घरवालों को काटा, अब शबनम के लिए बक्सर में बन रहा फांसी का फंदा

0
21

नीलकमल, पटनाबक्सर के सेंट्रल जेल में 16 फीट लंबी रस्सी से तैयार होने वाला फांसी का फंदा इस बार महिला अपराधी के लिए तैयार किया जा रहा है। बता दें कि फांसी का फंदा तैयार करने के लिए विशेष सूत पंजाब से मंगाया जाता है। इस बार बक्सर सेंट्रल जेल अपने फांसी के फंदे को लेकर इसलिए सुर्खियों में है क्योंकि इस बार मथुरा जेल में बंद महिला कैदी शबनम को फांसी दी जानी है।

कौन है शबनम – क्या किया था गुनाह
देश में यह पहला मौका होगा जब किसी महिला कैदी को फांसी दी जाएगी। दरअसल उत्तर प्रदेश के मथुरा जिले में शबनम नाम की महिला कैदी देश की पहली ऐसी महिला कैदी होगी जिसे आजाद भारत में फांसी दी जाएगी। मथुरा के रामपुर जेल में बंद शबनम, उत्तर प्रदेश अमरोहा के बावनखेड़ी गांव की रहने वाली है। शबनम ने ऐसा गुनाह किया था जिसे सुनकर कर ही किसी की रूह कांप जाएगी। दरअसल शबनम ने 14 अप्रैल की 2008 की आधी रात अपने प्रेमी सलीम के साथ मिलकर अपने माता – पिता सहित सात लोगों की कुल्हाड़ी से काटकर हत्या कर दी थी। शबनम के इस कुकृत्य की वजह से अब उसके गांव में कोई भी परिवार अपनी बेटियों का नाम शबनम रखने को तैयार नहीं। वही गांव के लोग आज भी शबनम के इस कुकृत्य को याद कर खौफ से भर जाते हैं और उसके खिलाफ नफरत के भाव खुद ब खुद उत्पन्न हो जाते हैं।

बक्सर जेल में तैयार हो रहा है शबनम के लिए फांसी का फंदा
बक्सर सेंट्रल जेल को एक बार फिर फांसी का फंदा तैयार करने का निर्देश दिया गया है। हालांकि यह फांसी का फंदा कब तक तैयार करके दिया जाना है इस बात की जानकारी नहीं मिल सकी है। लेकिन बिहार के बक्सर सेंट्रल जेल में इस बार जो फांसी का फंदा तैयार किया जा रहा है वह एक महिला कैदी के लिए है। जानकारी के अनुसार मथुरा के अमरोहा के बावनखेड़ी गांव में अपने परिवार के साथ लोगों की कुल्हाड़ी से हत्या करने वाली शबनम को फांसी की सजा दी गई है। उसी अपराधी शबनम के लिए यह फांसी का फंदा तैयार किया जा रहा है। आपको यह भी बता दें कि बक्सर में ही फांसी का फंदा इसलिए तैयार किया जाता है कि फांसी का फंदा तैयार करने के लिए जो नमीं चाहिए होती है। वह सेंट्रल जेल में नेचुरल तरीके से मिलती है क्योंकि सेंट्रल जेल गंगा किनारे स्थित है।