चीन, पाकिस्तान की चुनौती से निपटने को पीएम मोदी देंगे ‘खास मंत्र’, कम्बाइंड कमांडर कॉन्फ्रेंस में होंगे शामिल

0
29

रजत पंडित. नई दिल्ली
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मार्च के पहले सप्ताह में सैन्य बलों की कम्बाइन्ड कमांडर्स कॉन्फ्रेंस में शामिल होंगे। यह कॉन्फ्रेंस गुजरात के केवडिया में आयोजित की जाएगी। पीएम मोदी कॉन्फ्रेंस में चीन और पाकिस्तान के मोर्चे पर चल रही मौजूदा गतिविधियों की समीक्षा करेंगे। इसके अलावा सैन्य बलों के बहुत जरूरी एकीकरण को लेकर हो रही प्रगति पर भी चर्चा करेंगे।

दूसरे कार्यकाल में पहली बार शामिल होंगे पीएम
कम्बाइन्ड कमांडर कॉन्फ्रेंस को लेकर एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि इस साल के अपने कार्यकाल में पीएम मोदी पहली बार इस कॉन्फ्रेंस में शामिल होंगे। अधिकारी के अनुसार पीएम मोदी इस कॉन्फ्रेंस में सशस्त्र बलों को कम लागत में अधिक प्रभावी तरीके से एकीकरण के साथ सभी चुनौतियों का सामना करने के लिए तैयार रहने का निर्देश दे सकते हैं।

पूरा हो जाएगा सैनिकों की वापसी का फर्स्ट फेज
गुजरात के केवड़िया में आर्मी, नेवी और भारतीय वायुसेना के सभी टॉप कमांडरों की संयुक्त बैठक होगी। संयुक्त बैठक ऐसे समय हो रही है जब पूर्वी लद्दाख के पंगोंग त्सो क्षेत्र में भारत और चीन के बीच हुए समझौते के तहत सैनिकों की वापसी का फर्स्ट फेज पूरा हो चुका होगा। यह बैठक बहुत जल्द हो जाने रही दो यूनिफाइड ट्राइ सर्विसेज कमांड से पहले हो रही है। इसमें एयर डिफेंस कमान और जियोग्राफिकल मैरीटाइम थिएटर कमांड बननी है। टाइम्स ऑफ इंडिया ने इस संबंध में पिछले साल दिसंबर में ही रिपोर्ट दी थी।

200 करोड़ रुपये तक के प्रोजेक्ट को मंजूरी दे सकेंगे
केंद्रीय मंत्रिमंडल ने पूंजीगत खरीद के लिए सैन्य बलों के उपप्रमुखों तथा कमान प्रमुखों को और अधिक अधिकार दिए जाने के प्रस्ताव को बुधवार को स्वीकृति प्रदान की। इसके तहत ये अधिकारी 200 करोड़ रूपये तक के प्रोजेक्ट्स को मंजूरी दे सकेंगे। केंद्रीय मंत्रिमंडल की बैठक में इस आशय के प्रस्ताव को मंजूरी दी गई। अधिकारियों ने बताया कि प्रोजेक्ट्स के लिये फाइनेंसियल पावर को मंजूरी ‘अन्य पूंजीगत खरीद प्रक्रिया की श्रेणी’ के तहत की गई है।